जाकिर नाइक पर सुरक्षा एजेंसिया शिकंजा कसने को तैयार , हो सकती है गिरफ्तारी

Jul 11, 2016

विवादित इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक सोमवार को सऊदी अरब से मुंबई लौट सकते है.

सुरक्षा एजेंसियों ने नाइक पर शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है. जाकिर पर उकसाने वाले भाषण देने का आरोप है.

नाइक ढाका में हुई आतंकवादी वारदात के बाद जांच के घेरे में आए. एक जुलाई को आतंकवादियों ने ढाका के एक रेस्टोरेंट में हमला कर 22 लोगों को मार डाला था. इन आतंकवादियों में से दो नाइक के भाषण से प्रेरित थे, तब से देश में नाइक को लेकर बहस छिड़ गई है.

चिकित्सक से प्रचारक बने जाकिर नाइक मुंबई में इस्लामिक रिसर्च फांउडेशन के संस्थापक और अध्यक्ष हैं. नाइक पर अन्य धर्मों को निशाना बनाकर नफरत भरे भाषण देने का आरोप है. देश में लगातार उन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की जा रही है.

बांग्लादेश ने जाकिर नाइक के पीस टीवी पर लगाया प्रतिबंध

बांग्लादेश की सरकार ने भारत के विवादास्पद धर्म प्रचारक जाकिर नाइक के पीस टीवी चैनल के प्रसारण पर प्रतिबंध लगा दिया है. इस तरह की खबरें आने के बाद पीस टीवी पर प्रतिबंध लगाया गया है कि उसके ‘भड़काऊ’ भाषण से प्रेरित होकर कुछ आतंकवादियों ने देश के एक कैफे पर हमला किया.

उद्योग मंत्री आमिर हुसैन अमू ने कहा कि मुंबई के प्रचारक के ‘पीस टीवी बांग्ला’ पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय कानून..व्यवस्था पर कैबिनेट समिति की विशेष बैठक में लिया गया जिसकी अध्यक्षता उन्होंने खुद की.

समझा जाता है कि चिकित्सक से प्रचारक बने नाइक के भाषण से प्रेरित होकर कुछ बांग्लादेशी आतंकवादियों ने एक जुलाई को ढाका के एक रेस्तरां में 22 लोगों को मार डाला जिसमें अधिकतर विदेशी नागरिक थे.

नाइक की गतिविधियों की जांच हो: आजम खान

उत्तर प्रदेश के मंत्री मोहम्मद आजम ने मांग की है कि केन्द्र को एक समिति गठित कर विवादास्पद इस्लामी उपदेशक जाकिर नाइक की गतिविधियों की जांच करनी चाहिए.

खान ने कहा, ‘केन्द्र सरकार को नाइक की गतिविधियों की जांच के लिए एक समिति गठित करनी चाहिए और यदि उसे राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में संलिप्त पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए.’

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>