आप को खत्म करने की साजिश कर रही भाजपा : संजय सिंह

May 08, 2017
आप को खत्म करने की साजिश कर रही भाजपा : संजय सिंह

आम आदमी पार्टी (आप) ने सोमवार को दिल्ली के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तथा केंद्र सरकार को जिम्मेदार बताते हुए पूरे घटनाक्रम को पार्टी को ‘खत्म करने’ और विपक्ष की ‘आवाज को दबाने’ की बड़ी साजिश का एक हिस्सा करार दिया। आप नेता संजय सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि जिस तरह के आरोप मिश्रा ने लगाए हैं, उससे स्पष्ट होता है कि उनका इस्तेमाल केजरीवाल तथा दिल्ली सरकार के अन्य मंत्रियों को परेशान करने के लिए किया जा रहा है।

संजय सिंह ने कहा, “मिश्रा अब भाजपा तथा कांग्रेस की भाषा बोल रहे हैं। वह वही बातें कह रहे हैं, जो महीनों से दोनों पार्टियां कहती रही हैं। इससे यह स्पष्ट हो चला है कि इसके पीछे कौन है।”

मंत्री पद से बर्खास्तगी के एक दिन बाद मिश्रा ने आरोप लगाया कि उन्होंने केजरीवाल को दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपये लेते देखा था।

कपिल मिश्रा के दावे की खिल्ली उड़ाते हुए संजय सिंह ने हैरानी के साथ कहा कि क्या केजरीवाल ने उन्हें कथित रिश्वत लेने का साक्षी बनने के लिए बुलाया था या नोटों की गिनती करने के लिए?

बर्खास्त किए गए दिल्ली के मंत्री के खिलाफ संभावित कार्रवाई के बारे में सवाल पूछे जाने पर सिंह ने कहा, “पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) आज (सोमवार) बैठक करेगी औैर कपिल मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई पर चर्चा करेगी।”

मिश्रा ने यह भी आरोप लगाया है कि सत्येंद्र जैन ने केजरीवाल के एक रिश्तेदार को 50 करोड़ रुपये के जमीन का सौदा कराने में भी मदद की।

सिंह ने कहा, “इस तरह का गंभीर आरोप लगाते हुए क्या मिश्रा को यह महसूस नहीं हुआ कि उन्हें यह बताना चाहिए कि सौदा कब हुआ और केजरीवाल के किस रिश्तेदार के लिए हुआ।”

कपिल मिश्रा ने सोमवार को भ्रष्टाचार निरोधी शाखा (एसीबी) से कथित वाटर टैंकर घोटाले की शिकायत दर्ज कराई, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि केजरीवाल ने मामले में कार्रवाई करने में विलंब किया।

संजय सिंह ने कहा कि ये वही मिश्रा हैं, जो बार-बार यह बात दोहराते रहे हैं कि ‘केजरीवाल का घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है और एसीबी पर केजरीवाल को किसी भी तरह से फंसाने का दबाव है।’

उन्होंने कहा, “एसीबी केंद्र सरकार के मातहत काम करती है और केंद्र में भाजपा की सरकार है। इन सबके पीछे भाजपा है।”

संजय सिंह ने कहा कि ऐसे वक्त में जब देश गंभीर आंतरिक व बाह्य खतरों से जूझ रहा है, भाजपा तथा केंद्र सरकार की एकमात्र प्राथमिकता ‘आप’ को खत्म करना है।

उन्होंने कहा, “हमारी एकमात्र गलती यही है कि हम गरीबों तथा हाशिये पर पड़े लोगों के अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं और नफरत की राजनीति के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे हैं। वे हमारी आवाज दबाना चाहते हैं।”

आप नेता ने कहा कि केजरीवाल ‘भ्रष्टाचार के प्रति शून्य सहिष्णु हैं।’

सिंह ने कहा, “अन्ना हजारे के नेतृत्व में किए गए भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के दौरान भी मनीष सिसोदिया, अरविंद केजरीवाल तथा कुमार विश्वास के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे, लेकिन इसमें से कुछ भी निकलकर नहीं आया।”

केजरीवाल के इस्तीफे की भाजपा की मांग को खारिज करते हुए आप नेता ने कहा कि भाजपा के निलंबित सदस्य कीर्ति आजाद ने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ भ्रष्टाचार के ‘गंभीर’ आरोप लगाए, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

उन्होंने कहा, “जेटली के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोपों के बावजूद, वह वित्त मंत्री के पद पर बैठे हैं, इसलिए हमें भाजपा तथा कांग्रेस से नैतिकता तथा सिद्धांतों की सीख लेने की जरूरत नहीं है।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>