योगी सरकार ने पर्यटन स्थलों की लिस्ट से ताजमहल को किया बाहर, गंगा आरती को बनाया नंबर वन

Oct 03, 2017
योगी सरकार ने पर्यटन स्थलों की लिस्ट से ताजमहल को किया बाहर, गंगा आरती को बनाया नंबर वन

उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन स्थलों की लिस्ट जारी करते ही विवादों में आ गई है। इस में सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह है कि इस लिस्ट में ताजमहल को ही शामिल नहीं किया गया है। जबकि सीएम योगी आदित्यनाथ के गोरखधाम मंदिर को जगह दे दी गई है।

बता दें कि दुनिया के 7 अजूबों में शामिल आगरा के ताजमहल को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अपनी पर्यटन स्थलों की लिस्ट से हटा दिया है। मिली रिपोर्ट के अनुसार, योगी सरकार ने यूपी की नई ‘टूरिस्ट डेस्टिनेशन’ लिस्ट जारी की है, जिसमें ताजमहल को शामिल नहीं किया गया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरकार द्वारा जारी की गई इस बुकलेट में सबसे पहले बुकलेट का पहला पेज वाराणसी की गंगा आरती के बारे में है। जबकि दूसरे पेज पर सीएम योगी आदित्यनाथ और पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी की तस्वीर है, और इस तस्वीर के साथ ही बुकलेट का उद्देश्य लिखा हुआ है। जसके आगे पर्यटन विकास योजनाओं के बारे में दिया गया है। यहाँ तक कि इस लिस्ट में गोरखधाम मंदिर को ही दो पेजों पर जगह दे दी गई है।

ये भी पढ़ें :-  निमोनिया से पीड़ित 15 माह की बच्ची को तांत्रिक ने गर्म सलाख से दागा, हालत गंभीर

आखिर ‘टूरिस्ट डेस्टिनेशन’ लिस्ट में ताजमहल को क्यों नहीं शामिल किया गया है। अभी तक इसके बारे में किसी भी आधिकारिक ने कोई बयान नहीं दिया है। लेकिन आपको ये जाकर हैरानी होगी कि सीएम योगी ताजमहल को भारतीय संस्कृति का हिस्सा मानने से इंकार कर चुके हैं। अभी हाल के दिनों में बिहार की एक रैली में उन्होंने कहा था कि ताजमहल एक इमारत के सिवा और कुछ भी नहीं है। इतना ही नहीं योगी सरकार ने अपने पहले बजट 2017-18 में ताजमहल को हमारी सांस्कृतिक विरासत वाली लिस्ट में भी शामिल नहीं किया था।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>