योगी राज में सरकारी मदद से चलने वाले स्कूल-कॉलेजों पर संघ के कब्जे की साजिश का पर्दाफाश, 11 पर FIR दर्ज़

Dec 29, 2017
योगी राज में सरकारी मदद से चलने वाले स्कूल-कॉलेजों पर संघ के कब्जे की साजिश का पर्दाफाश, 11 पर FIR दर्ज़

उत्तर प्रदेश में BJP की सरकार और योगी आदित्यनाथ के सीएम बनते ही जिस तरह से हर तरफ भगवाकरण की प्रक्रिया शुरु की जा चुकी है। जहाँ स्कूलों और थानों के भवन का रंग कुछ दिनों पहले भगवा किया गया, लेकिन अब इससे एक कदम आगे बढ़ते हुए शिक्षा में भी भगवाकरण की पुरी तैयारी चल रही है। इन दिनों मीडिया में चल रही इन खबरों की मानें तो योगी सरकार की मदद से चलने वाली स्कूलों और कॉलेजों में संघ के लोगों को भर्ती किया जा रहा है। यहाँ तक कि इस प्रकिया को अंजाम देने के लिए फर्जी रास्ते तक अपनाए जा रहे हैं। लेकिन उस से पहले ही इस का भंडाफोड़ गया और इस के प्रकरण में करीब 11 लोगों पर एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है।

ये भी पढ़ें :-  फिल्म 'पद्मावत' देखने गई लड़की के साथ दोस्त ने सिनेमा हॉल में किया रेप, फेसबुक पर हुई थी दोस्‍ती

बता दें कि नवजीवन की खबर के अनुसार इन पर फर्जीवाड़ा कर जाली शासनादेश तैयार करने और सरकारी पैसे के गबन समेत कई आरोप लगाए गएहैं। इस मामले में जिन लोगों को आरोपी बनाया गया है उनमें सोनभद्र के जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में तैनात आशुलिपिक और लेखाकार समेत राबर्ट्सगंज संस्कृत माध्यमिक विद्यालय और राष्ट्रीय संस्कृत माध्यमिक विद्यालय तरावां के कुल आठ सहायक अध्यापकों के नाम सामने आये हैं।

आपको जानकार हैरानी होगी कि एफआईआर में दर्ज नामों में हिन्दू युवा वाहिनी और भारतीय जनता पार्टी से जुड़े और एक विशेष जाति समुदाय के लोगों के रिश्तेदारों के नाम भी हैं। मिली रिपोर्ट की मानें तो इन फर्जी नियुक्तियों के पीछे किसी और का नहीं बल्कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के काशी प्रांत इकाई के एक प्रभावशाली कार्यकर्ता का हाथ है जिनके बारे में बताया कि उन्होंने खुद ही फर्जी ढंग से रॉबर्ट्सगंज स्थित रॉबर्ट्सगंज संस्कृत महाविद्यालय में प्रवक्ता के पद पर नियुक्ति पाई है।

ये भी पढ़ें :-  शर्मनाक: बदमाशों ने काट दिया दूल्हे का प्राइवेट पार्ट, 5 दिन बाद होनी वाली थी शादी
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>