नहीं मिली योगी सरकार की एंबुलेंस सेवा, रिक्शे से ले गए शव

Jul 10, 2017
नहीं मिली योगी सरकार की एंबुलेंस सेवा, रिक्शे से ले गए शव

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में केंद्र और राज्य सरकार की एंबुलेंस सेवा का कोई मतलब नहीं रह गया है। रेलवे पटरी से बरामद एक व्यक्ति के शव को पोस्टमॉर्टम हाउस तक ले जाने के लिए सरकारी एंबुलेंस नहीं उपलब्ध कराई गई, तो उसके परिजन शव को रिक्शे में लाद कर ले गए। घटना शनिवार की है, रामआसरे (44) नामक व्यक्ति का शव राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने बांदा रेलवे स्टेशन से कुछ दूर रेलवे पटरी से बरामद किया था। पंचनामा भरे जाने के बाद मृतक के परिजन सरकारी एंबुलेंस सेवा से उसके शव को पोस्टमार्टम हाउस तक ले जाना चाह रहे थे, लेकिन मौके पर उपलब्ध नहीं हो पाई। अलबत्ता, उसके परिजन रिक्शा से शव लेकर पोस्टमार्टम हाउस गए।

ये भी पढ़ें :-  आज़ादी के बाद से हर मदरसे में तिरंगा लहराया है, लेकिन RSS के कार्यालय पर इतिहास में कभी तिरंगा नहीं लहराया

रिक्शा से शव ले जाने की तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी हरकत में आए और स्वास्थ्य विभाग के कुछ अधिकारी एक एंबुलेंस लेकर पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। बाद में इसी एंबुलेंस से मृतक का शव दाह संस्कार के लिए ले जाया गया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. संतोष कुमार ने रविवार को कहा, “मृतक के परिजनों ने एंबुलेंस की मांग की सूचना विभाग को नहीं दी थी, बाद में पोस्टमार्टम हाउस एंबुलेंस पहुंचाई गई है।”

उधर, जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने मामले को गंभीरता से लिया है, उन्होंने कहा, “पूरे मामले की जांच कराई जाएगी और दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।”

ये भी पढ़ें :-  फरदीन खान की पत्नी नताशा ने दिए अपने दूसरे बच्चे को जन्म
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>