जवाहिरी की महिला सदस्यों को PM के बेटे के बदले छुड़ाना चाहता था अल-कायदा

Jun 28, 2016

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी के बेटे अली हैदर गिलानी के बदले अल-कायदा जवाहिरी की महिला सदस्यों को छुड़ाना चाहता था.

अली हैदर गिलानी ने कहा है कि अल-कायदा ने उसका अपहरण इसलिए किया था ताकि इस आतंकी समूह के मुखिया अयमान-अल जवाहिरी की कुछ महिला सदस्यों को रिहा करने के लिए सरकार पर दबाव बना सके.

अली हैदर गिलानी को हाल ही में अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना के जवानों ने मुक्त कराया है. गिलानी को मुल्तान में 9 मई, 2013 को एक चुनावी रैली के बाद छह आतंकियों ने अगवा किया था.
गिलानी ने कहा कि उन्हें सबसे पहले फैसलाबाद के औद्योगिक कस्बे में ले जाया गया जहां अपहरणकर्ताओं ने उन्हें दो महीने तक बंधक बनाकर रखा और इसके बाद उन्हें उत्तरी वजीरिस्तान ले जाया गया.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे दो महीने बंधक बनाकर रखा गया. मुझे एक छोटे से कमरे में रखा गया और एक साल और दो महीने तक आसमान तक नहीं देखने दिया गया. मैं भूल गया कि धूप का एहसास क्या होता है.’’
इस साल की शुरुआत में गिलानी को उस समय अफगानिस्तान ले जाया गया जब पाकिस्तान की सेना ने उत्तरी वजीरिस्तान के शावल के सीमावर्ती इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया. उन्हें पिछले महीने ही अमेरिकी सेना ने अपहरणकर्ताओं से मुक्त कराया.
 अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>