नारीशक्ति की गूंज राष्ट्रपति भवन में, सिंधू, साक्षी, दीपा को खेल रत्न

Aug 30, 2016
नारीशक्ति की गूंज राष्ट्रपति भवन में, सिंधू, साक्षी, दीपा को खेल रत्न

रियो ओलंपिक में दमदार प्रदर्शन करने वाली देश की तीन महिला खिलाडिय़ों को देश के सबसे बड़े खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा शूटर जीतू राय और रियो ओलंपिक में पहली बार हिस्सा लेने वाली भारतीय जिम्नास्ट दीपा कर्माकर को भी खेल रत्न पुरस्कार दिया गया।

पीवी सिंधू रियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल लेने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बनीं। तो भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक ने भी रियो ओलंपिक में पहली बार ब्रॉन्ज मेडल जीतकर इतिहास रचा। इसके अलावा दीपा कर्माकर रियो में कोई मेडल तो नहीं जीत सकीं। लेकिन अपने प्रोडूनोवा वॉल्ट के जरिए वो फाइनल में पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला जिम्नास्ट बनीं। दीपा मजह कुछ ही अंको से ब्रॉन्ज मेडल जीतने से चूंक गई थी।

जीतू ने 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण और आईएसएसएफ विश्व कप में पुरुषों की दस मीटर एयर पिस्टल में स्वर्ण पदक जीता था हालांकि रियो ओलिंपिक में वह पदक नहीं जीत सके।

राष्ट्रपति ने ऐतिहासिक दरबार हाल में आयोजित समारोह में इन सभी को पदक, सर्टिफिकेट और 7।5 लाख रुपए नकद पुरस्कार दिया। पहली बार चार खिलाड़ियों को खेल रत्न पुरस्कार से नवाजा गया और यह रियो ओलंपिक में महिला खिलाड़ियों के प्रदर्शन के कारण हुआ।

समारोह के आकर्षण का केंद्र हालांकि महिला पहलवान विनेश फोगाट रहीं, जो रियो ओलिंपिक में क्वार्टर फाइनल में घुटने की चोट के कारण हारकर बाहर हो गई थीं। व्हीलचेयर पर आई विनेश को पुरस्कार देने राष्ट्रपति खुद आगे आए और हाल में मौजूद लोगों ने तालियों के साथ इस खिलाड़ी के जज्बे को सराहा।

क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे को छोड़कर सभी 14 खिलाड़ी अर्जुन पुरस्कार लेने के लिए मौजूद थे जिन्हें प्रतिमा, सर्टिफिकेट और पांच-पांच लाख रुपए नकद पुरस्कार दिए गए।

रियो ओलंपिक में 3000 मीटर स्टीपलचेस में 10वें स्थान पर रही लंबी दूरी की धाविका ललिता बाबर, पिछले साल विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाले एकमात्र भारतीय मुक्केबाज शिवा थापा, हॉकी खिलाड़ी वीआर रघुनाथ और रानी रामपाल को भी अर्जुन पुरस्कार प्रदान किया गया। तीरंदाज रजत चौहान, बिलियर्डस और स्नूकर खिलाड़ी सौरव कोठारी, फुटबाल खिलाड़ी सुब्रत पाल, निशानेबाज गुरप्रीत सिंह और अपूर्वी चंदेला, टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत घोष को भी अर्जुन पुरस्कार प्रदान किए गए।

इस साल छह कोचों को द्रोणाचार्य पुरस्कार प्रदान किए गए जिनमें दीपा के कोच बिश्वेश्वर नंदी और भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली के कोच राजकुमार शर्मा शामिल हैं। उनके अलावा नगापुरी रमेश (एथलेटिक्स), सागर मल धयाल (मुक्केबाजी), प्रदीप कुमार (तैराकी आजीवन योगदान) और महाबीर सिंह : (कुश्ती जीवनपर्यंत योगदान) को द्रोणाचार्य पुरस्कार दिए गए।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>