क्यों नहीं की जाती ब्रह्मा जी की पूजा जाने इसका रहस्य

May 05, 2017
क्यों नहीं की जाती ब्रह्मा जी की पूजा जाने इसका रहस्य

जैसा की आप सब को पता ही है कि चारों वेदों के ज्ञाता ब्रह्मा जी को माना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमें चारों वेदों का ज्ञान ब्रह्मा जी से मिला है। लेकिन यह ज्ञान के बावजूद क्या आप जानते हैं कि ब्रह्मा जी की पूजा नहीं की जाती, पर ऐसा क्यों है ?

क्यों नहीं की जाती ब्रह्मा जी की पूजा।
एक बार ब्रह्मा जी के मन में धरती की भलाई करने के लिए इच्छा जागी। इसलिए उनके मन में धरती पर यज्ञ करने का ख्याल आया। उसके बाद उन्होंने स्थान का चुनाव करने के लिए अपने कमल को धरती पर भेज दिया। कहते हैं कि ब्रह्मा जी द्वारा तीन बूंदें धरती पर फेंकी गई थी। जिसमें से एक बूंद पुष्कर में गिरी और उस स्थान का चुनाव करके ब्रह्मा जी वहां पहुंचे जहां पर बूंद गिरी।

ग्वाला बाला से कर ली शादी।
उनकी पत्नी सावित्री वक्त पर नहीं पहुंच पाई। ब्रह्माजी ने सोचा कि अभी सही समय पर यज्ञ नहीं शुरु किया गया तो इसे आगे का कोई असर नहीं होगा। इसलिए उन्हें एक स्त्री की जरूरत थी। तब ब्रह्मा जी ने एक ग्वाल बाला से शादी कर ली और उस ग्वाला बाला के साथ ही यज्ञ में बैठ गए।

पत्नी ने दिया ब्रह्मा जी को श्राप
ब्रह्मा जी की पत्नी ने ब्रह्मा जी को श्राप दिया कि इस पृथ्वी लोक पर कहीं भी ब्रह्मा जी की पूजा नहीं की जाएगी। ब्रह्मा जी ने अपनी पत्नी से माफ़ी मांगी तो उन्होंने कहा कि जल पर की जहां पर बाकी की दो बूंदे गिरी थी सिर्फ वही पर उनका मंदिर होगा और अगर कोई दूसरा उनका मंदिर बनाने की कोशिश करेगा तो वह मंदिर अपने आप ही नष्ट हो जाएगा। इसलिए पूरे विश्व भर में कहीं ब्रह्मा जी का मंदिर नहीं है। सिर्फ दो बूंदे जहां गिरी जिसमें से उन्होंने ब्रह्मा जी को पुष्कर है वहीं पर उनका मंदिर है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>