आखिर क्यों दी जाती है सुबह सुबह फांसी, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे

Apr 05, 2017
आखिर क्यों दी जाती है सुबह सुबह फांसी, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे

हम सभी लोग जानते हैं जितने भी कोई बहुत बड़ा दोषी होता है उसे फांसी की सजा सुनाई जाती है। लेकिन उसे फांसी तब दी जाती थी जब सूर्य उदय से पहले ही, कभी आप लोगों ने यह सोचा है कि सूर्योदय से पहले फांसी क्यों दी जाती थी। तथा उसके परिजन कभी भी फांसी के वक्त देख नहीं सकते,न उस से मिलने ही देते है।

लेकिन आज हम आपको उसके बारे में बताने जा रहे हैं फांसी सुबह सुबह इसलिए दी जाती है क्योंकि जेल का मैनुअल के अनुसार ही हो उसके बाद ही सारे काम किए जाते हैं और कोई काम प्रभावित ना हो। हमेशा फांसी के 10 मिनट बाद वहां पर डॉक्टरों का पैनल आता है जो वहाँ आ के तलाशी करते है और चेक अप करता है कि उसकी मौत हो गई है या नहीं।

हमेशा ही फांसी के वक्त पर वहां पर जेल का एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट जल्लाद मौजूद रहते हैं इनकी बिना कभी भी फांसी नहीं दी जाती है। हमेशा ही फांसी देते समय जल्लाद यह बोलता है कि मुझे माफ कर दिया जाए हिंदू भाइयों को राम राम मुसलमान भाइयो को सलाम हम क्या कर सकते हैं हम तो हुकुम के गुलाम है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>