कहाँ है ‘एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉड’: छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचले ने सरेआम छात्रा का काटा हाथ

Aug 24, 2017
कहाँ है ‘एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉड’: छेड़छाड़ का विरोध करने पर मनचले ने सरेआम छात्रा का काटा हाथ

महिलाओं के हक के लिए आवाज़ उठाने की बात करने वाली सरकार के राज्य में महिलायें खुद सुरछित नहीं हैं हर आये दिन उनके साथ छेड़छाड़ और रेप की घटनाएं सामने आती रहती हैं। इन दिनों ऐसा ही एक मामला उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में सामने आया है जहाँ पर एक छात्रा के साथ कुछ बदमाशों ने छेड़छाड़ किया लेकिन, इस छात्रा ने इसका विरोध किया तो छात्रा का दिनदहाड़े हाथ काट दिया गया।

बता दें कि ये मामला उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी का है जहाँ बुधवार को छेड़खानी का विरोध करने पर एक लड़के ने तलवार लेकर न सिर्फ छात्रा को दौड़ाया बल्कि उसका एक हाथ भी काटकर अलग कर दिया। जहाँ घटना के बाद वहां के लोगों ने इस मनचले को पकड़कर जमकर पीटा और फिर पुलिस के हवाले कर दिया ।

ये भी पढ़ें :-  पिता के बाद 14 साल के बेटे ने भी की ख़ुदकुशी, फीस के लिए टीचर करते थे परेशान

घटना के बाद छात्रा को तुरंत जिला हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। लेकिन, गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने छात्रा को लखनऊ के ‘ट्रामा सेंटर’ रेफर कर दिया है। हुआ ये कि शहर के ‘बाबूराम सर्राफ नगर’ में रहने वाली एक छात्रा बुधवार के रोज़ निघासन सड़क से गुजर रही थी। तभी रोहित चौरसिया उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा। लेकिन जब छात्रा ने इसका विरोध किया तो आरोपी ने कुछ देर बाद तलवार लेकर आया और उसे बीच सड़क पर ही दौड़ाने लगा। लेकिन आरोपी उसका पीछा करते हुए, लड़की के पास पहुंचा और उसका हाथ काट दिया।

लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी कुछ रोज़ पहले ही ‘बलिया’ में छेड़छाड़ का विरोध करने पर छात्रा की दिनदहाड़े रागिनी दुबे की बदमाशों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी। जहाँ हत्या करने वालों में से एक मुख्य आरोपी बीजेपी नेता का बेटा था। इतना ही नहीं दो दिन पहले ही बस्ती में छेड़छाड़ से परेशान हो कर एक दलित छात्रा ने पुलिस से शिकायत की लेकिन, जब शिकायत के बावजूद उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तो उस छात्रा ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी ।

ये भी पढ़ें :-  BHU बवाल: छात्राओं का आरोप- कहा, आधी रात में सुरक्षाकर्मियों ने हमें हॉस्टल में घुसकर मारा

योगी आदित्यनाथ के सीएम बनते ही बदमाशों से उत्तरप्रदेश छोड़ने को कहा था। और सरकार ने ‘एंटी रोमियो स्‍क्‍वॉड’ बनाकर लड़कियों की सुरक्षा का दावा किया था। लेकिन ये दावे सिर्फ सियासी ही बनकर रह गए क्योंकि अब तो हर आये दिन महिला इन बदमशों के निशाने पर आती जा रही हैं और सरकार बस सिर्फ तमाशा देख रही है। इस तरह से यूपी में हो रही महिलाएं के साथ घटनाएं ये साबित करती हैं कि बदमाशों में पुलिस का कोई ख़ौफ़ नहीं है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>