आखिर क्यूं? पांच दिनों तक यहां पत्नियों को रहना पड़ता है नग्न

Jul 06, 2017
आखिर क्यूं? पांच दिनों तक यहां पत्नियों को रहना पड़ता है नग्न

जीतनी ये दुनिया बड़ी है उतने ही इस दुनिया में अजीब अजीब लोग रहते हैं। और देखा जाता है कि सबकी परंपरा भी अलग ही होती होती, कई बार तो ऐसे ऐसे मामले सामने आते हैं जिन्हे देखकर और जानकर बेहद हैरानी होती है। लेकिन आज हम आपको अपने ही भारत के एक राज्य में निभाई जा रही एक परंपरा के बारे में बनाने जा रहें हैं जिसे जानकर आपके होश उड़ने वाले हैं। भारत में आज भी निभाई जा रही है ऐसी परम्पराएं जहां हर साल तीन महीने के लिए किसी महिला को विधवा होना पड़ता हैं तो किसी महिला को सुहागन और कहीं किसी लड़की को परिवार ने सभी लड़कों से शादी करनी पड़ती है। तो चलिए जानते हैं भारत के राज्य हिमाचल की कहानी जहां एक गांव में सदियों से चली आ रही एक परंपरा निभाई जाती है। जिसमे पति-पत्नी एक दूसरे से बात नहीं करते और 5 दिनों तक पत्नी नग्न रहती हैं।

ये भी पढ़ें :-  यकीन नहीं आएगा, लेकिन हकीकत में इस महिला के साथ हुआ, इन-इन जगहों पर 43,200 बार रेप

यहां हर शादीशुदा जोड़ा 5 दिनों तक आपस में हंसी-मजाक बात जीत कुछ नहीं करते, और इस दौरान पत्नी को नग्न रहना पड़ता हैं। इन पांच दिनों में इन सख्त नियमों के आधार पर रहते हैं शादीशुदा जोड़े, सावन के माह के इन पांच दिनों में पति पत्नी को एक दूसरे से दूर रहना होता है और इसे तबाही की वजह से जोड़कर देखा जाता है। इन पांच दिनों तक महिलाएं कपड़े नहीं पहनती। बल्कि इन्हें ऊन से बने पट्टू ही ओढने पड़ते हैं। वहीं पुरुष शराब सेवन भी नहीं करते।

बतराय जाता है कि देवता के इस गांव में पांव रखने के बाद से ही इस देव परंपरा की शुरूआत हो गई। बताया गया है कि सावन के इन पांच खास दिनों में पति पत्नी ने आपस में मजाक किया तो देवता बुरा मान जाएंगे और गांव पर तबाही आ जाएगी। जिसके लिए वहां पर रहने वाले सभी लोग इस परंपरा को मानते हैं।

ये भी पढ़ें :-  रोज़ाना महिला को लिपटकर सोता था ये सांप, लेकिन जब महिला को पता लगे इसके इरादे, तो उसके उड़ गए होश
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>