जयपुर फेस्टिवल में बोलते-बोलते गाली दे गये..अनुपम खेर, मचा बवाल

Jan 26, 2016

जयपुर। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का समापन काफी धमाकेदार रहा क्योंकि साहित्यकारों के मंच से वो हुआ जिसकी कल्पना हमने कभी नहीं की थी। हुआ यूं कि  फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन के नाम पर चलने वाली मंच उस समय एक राजनैतिक बहस में बदल गई जिस समय अनुपम खेर ने अपने भाषण में गाली का प्रयोग कर दिया।

खेरहुआ यूं कि जब अभिनेता अनुपम खेर ने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी के साथ सेंस ऑफ रिस्पॉन्सिबिलिटी होना जरूरी है, क्या आप घर में .. बहन जैसे शब्दों का प्रयोग कर सकते हैं, जब आप इन शब्दों का प्रयोग घर में नहीं कर सकते तो फिर आप देश के लोगों से कैसे कर सकते हो। जिस पर बहस छिड़ गई।

वहां बैठे आम आदमी पार्टी के लोगों ने आरोप लगाना शुरू कर दिया कि देश में तो केवल एक ही व्यक्ति मन की बात करता है.. बाकी अगर सीएम केजरीवाल अपने दिल की बात करने लगे तो बवाल मच जाता है।आम आदमी पार्टी इसी फ्रीडम ऑफ स्पीच की बदौलत सत्ता में है। लेकन बीजेपी वाले हल्ला मचाते हैं और कहते हैं कि ये नहीं होने देगे जिसके बाद अनुपम खेर और आम आदमी के बीच में बहस होने लगी और वहां पर मोदी-मोदी के नारे लगने लगे, जिस पर अनुपम खेर ने भी हाथ हिलाकर सपोर्ट किया, जिसके बाद आयोजकों को कहना पड़ा कि ये राजनैतिक अखाड़ा नहीं साहित्य का मंच है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>