दूल्हा दिनभर दुल्हन का मंदिर में करता रहा इंतज़ार, दूल्हा बारात लेकर पहुंचा थाने

Jul 02, 2016

उज्जैन। शादी के लिए देवास से बारात लेकर आया दूल्हा दिनभर दुल्हन का चिंतामण मंदिर में शादी के लिए इंतजार करता रहा। जब दुल्हन व उसका परिवार नहीं पहुंचा तो वह बारात लेकर दुल्हन के घर चला गया। लड़की व उसके परिवार ने शादी से इंकार कर दिया। दूल्हा बारात सहित माधवनगर थाने पहुंच गया। दोनों पक्षों ने थाने में आवेदन दिया है। देर शाम दूल्हा बगैर दुल्हन वापस देवास लौट गया।

देवास के वासुदेवपुरा निवासी शंकर पिता रामचंद्र कहार की शादी उज्जैन के कंचनपुरा निवासी बलदेव मलिहा की पुत्री पूजा से तय हुई थी। शंकर 60 बारातियों को लेकर शुक्रवार को चिंतामण मंदिर पहुंच गया। यहां दोपहर तक दुल्हन व उसके परिवार का इंतजार किया। दुल्हन व उसका परिवार मंदिर नहीं पहुंचा तो शाम को शंकर बारात लेकर कंचनपुरा पहुंच गया। यहां दुल्हन व उसके परिवार ने शादी करने से इंकार कर दिया।
दुल्हन के भाई ने की अभद्रता
दुल्हन के भाई मिथुन ने बारातियों के साथ अभद्रता की। इस पर दूल्हा शंकर बारात सहित माधवनगर थाने पचा और टीआई एमएस परमार को शिकायत की। शंकर का कहना है कि मिथुन आदतन अपराधी है। 15 जून को वह जेल से छूटकर आया है।
हमसे पूछा नहीं और शादी का तारीख कर दी तय
दुल्हन पूजा के भाई मिथुन ने बताया कि शंकर के परिजन ने उनसे विवाह की तारीख तय करने के बारे में बात तक नहीं की थी। अचानक ही शादी तय कर दी और पत्रिका छपवा ली थी। शादी से इंकार के बाद भी दूल्हे की मां तुलसाबाई उन पर शादी के लिए दबाव बना रही थी। गुरुवार रात को भी वह उज्जैन आई थी। तैयारी नहीं होने के कारण हमने शादी से इंकार कर दिया था। वहीं लड़के का भी रिकॉर्ड ठीक नहीं है। माधवनगर पुलिस को आवेदन दिया है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>