स्पीकर ने संसद वीडियो मामले पर भगवंत मान को लगाई फटकार

Jul 22, 2016

संसद वीडियो मामले पर आम आदमी पार्टी सांसद भगवंत को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने लगाई फटकार लगाई है.

भगवंत मान द्वारा संसद भवन परिसर का वीडियो बनाने की भाजपा, कांग्रेस, बीजद, अन्नाद्रमुक, शिवसेना, अकाली दल समेत लगभग सभी दलों ने निंदा की और मान के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. आप सदस्य को बर्खास्त करने की मांग करते हुए राजग सदस्यों के हंगामे के कारण एक बार के स्थगन के बार लोकसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई.
इस मुद्दे पर हंगामे के कारण प्रश्नकाल की कार्यवाही भी नहीं चल पायी.
करीब सवा 11 बजे एक बार के स्थगन के बाद 12 बजे सदन की बैठक फिर शुरू होने पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘‘यह संसद की सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा है. हम देख चुके हैं कि इसकी सुरक्षा के लिए 13 लोगों ने जान गंवायी थी. यह मामला गंभीर है. मैं कोई न कोई कार्रवाई करूंगी. मैं इस विषय को देखूंगी.’’
आप सदस्य द्वारा संसद परिसर की वीडियोग्राफी करने के मुद्दे पर नियम 334 ए के तहत नोटिस देने वाले बीजद सदस्य भृतुहरि महताब ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष के 124ए के निर्देशों, कामकाज एवं आचार के नियम 334ए के तहत यह गंभीर मामला है.
उन्होंने संसद पर हुए आतंकवादी हमले का परोक्ष जिक्र करते हुए कहा कि दिसंबर 2001 की घटना हमें याद है जब 13 लोगों ने लोकतंत्र के इस मंदिर की सुरक्षा करते हुए जान गंवायी थी.
उन्होंने कहा कि यह केवल आचार और नैतिकता का सवाल नहीं है. ऐसे कार्यों के बाद अगर कोई फिर इस मंदिर तक आ जाए, सुरक्षा को खतरा उत्पन्न करे तो क्या होगा? हमें याद है कि 2001 में जब यहां हमला हुआ था तब सोनियाजी जो उस समय सदन में नहीं थी, उन्होंने अटलजी को फोन करके जानकारी ली थी. यह काफी गंभीर मामला है.

 

महताब ने कहा, ‘‘यह केवल मूर्खता या अनजाने में की गई घटना नहीं है. इसलिए आचार समिति पर छोड़ने की बजाए अलग समिति बनाकर फैसला किया जाए.’’
भाजपा के आरके सिंह ने कहा कि भगवंत मान कह रहे हैं कि वे फिर से वीडियो बनायेंगे, फिर से सुरक्षा को दांव पर लगायेंगे. ऐसे में उन्हें तत्काल बर्खास्त किया जाए.
कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खडगे ने कहा कि यह बहुत गंभीर मामला है. सारा सदन एक होकर इसकी निंदा करता है.
उन्होंने कहा कि यह देश की सुरक्षा का प्रश्न है, 125 करोड़ देशवासियों के जन प्रतिनिधियों की सुरक्षा का प्रश्न है.
संसदीय कार्य राज्यमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मान ने सुरक्षा व्यवस्था और संसदीय कार्यप्रणाली को सोशल मीडिया पर शेयर कर नियम को तोड़ा है.

 

नकवी ने कहा कि भगवंत मान ने जो किया है उस पर चर्चा हो. उन्होंने ना सिर्फ सुरक्षा के नियमों को ताक पर रखा बल्कि ऐसा फिर करने की धमकी भी दी है.
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>