देश की रक्षा के लिए वसुंधरा का अनूठा अनुष्ठान, भारत-पाक सीमा पर देशभक्त ब्राह्मण करेंगे सरकारी यज्ञ

Oct 06, 2016
देश की रक्षा के लिए वसुंधरा का अनूठा अनुष्ठान, भारत-पाक सीमा पर देशभक्त ब्राह्मण करेंगे सरकारी यज्ञ
सेना जहां गोला-बारूद से देश की हिफाजत में जुटी है वहीं राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे सैनिकों और देश की सुरक्षा के लिए सरकारी यज्ञ कराने जा रहीं हैं। यह यज्ञ उस मंदिर में होने जा रहा, जहां 1965 की जंग में पाकिस्तान ने सैकड़ों गोले दागे थे मगर मंदिर नष्ट नहीं हुआ। भारत-पाक सीमा पर स्थित इस मंदिर का नाम है तनोट माता मंदिर।  यह यज्ञ 21देशभक्त ब्राह्मण विधि-विधान से कराएंगे। यज्ञ आयोजन का जिम्मा राजस्थान संस्कृत एकेडमी को दिया गया है। खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा यज्ञ मे शामिल होंगी।
राजनाथ भी वसुंधरा के साथ ले सकते हैं हिस्सा
कहा जा रहा है कि इस सरकारी यज्ञ में राजनाथ सिंह भी हिस्सा ले सकते हैं। बता दें कि राजस्थान राज्य की करीब 1040 किमी सीमा पाकिस्तान से लगी है। सरहद की सुरक्षा में तैनात जवानों की रक्षा के लिए कुल पांच सौ ज्याद वेद शिक्षा हासिल करने वाले विद्यार्थी मंत्रोच्चार में हिस्सा लेंगे। सेना की ओर से जारी अधिकृत बयान में भी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के यज्ञ के बारे में जानकारी दी गई है। कहा गया है मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की मौजूदगी में होने वाला यह यज्ञ सीमा के नजदीक रहने वाले लोगों की भी सुरक्षा करेगा। राजस्थान संस्कृत एकेडमी के के डायरेक्टर राजेंद्र तिवारी के मुताबिक आयोजन में मुख्यमंत्री के साथ केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के भी भाग लेने की संभावना है।
राष्ट्रभक्त ब्राह्मण से ही यज्ञ क्यों
राष्ट्रभक्त ब्राह्मण किसे कहते हैं और इनसे ही यज्ञ क्यों कराया जा रहा है। इस पर राजस्थान संस्कृत एकेडमी की अध्यक्ष जया दवे ने सफाई देती हैं। उनका कहन है कि अकादमी के साथ जो ब्राह्मण हमेशा से जुड़े रहे हैं, वे कई धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं के जरिए देश और समाज का भला करने में जुटे हैं। इस नाते उन्हें ही राष्ट्र रक्षा यज्ञ के लिए चुना गया है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>