उत्तर प्रदेश का चुनावी समीकर बदल सकती हैं, ये बेटियां

Sep 03, 2016
उत्तर प्रदेश का चुनावी समीकर बदल सकती हैं, ये बेटियां

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में अलग-अलग पार्टियों के बड़े नेताओं की बेटियां अहम भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं। ये बेटियां अपने माता-पिता के राजनीतिक कौशल को आगे ले जाने के लिए तैयार हैं। ऐसी कई पार्टियां और नेता हैं, जो पिछले कुछ सालों में अपनी राजनीतिक चमक को खो चुके हैं। ऐसे में ये बेटियां उस खोई हुई चमक को वापस लाने के लिए यूपी चुनाव में अपनी किस्मत आजमाएंगी।

बता दें कि यूपी चुनाव में अलग-अलग नेताओं की 8 बेटियां चुनाव लड़ेंगी। इनमें से कई पहली बार राजनीति में कदम रख रही हैं। वहीं, कई अपनी पुरानी लोकप्रियता को वापस पाने के लिए चुनाव लड़ेंगी। ऐसे में राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि इस बार यूपी चुनाव में महिलाओं का दम-खम देखने को मिलेगा। इस वजह से यूपी चुनाव काफी रोमांचक भी रहेगा।

up_election1

अदिति सिंह
अदिति सिंह (28) पांच बार विधायक रह चुके अखिलेश सिंह की बेटी हैं। अखिलेश सिंह पांच बार रायबरेली सदर से विधायक रह चुके हैं। ये अब कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए हैं। सूत्रों की मानें तो, अदिति सिंह को प्रियंका गांधी ने चुना है। ये भी कहा जा रहा है कि अदिति अपने पिता के निर्वाचन क्षेत्र से ही कांग्रेस के बैनर तले चुनाव लड़ेंगी। बता दें कि पिछले कुछ सालों में अखिलेश सिंह की लोकप्रियता रायबरेली में कम हुई है। ऐसे में इस बार के यूपी चुनाव में उन्होंने अपनी बेटी को मैदान में उतारा है।

up_election2

संघमित्रा मौर्या
संघमित्रा मौर्या पूर्व बसपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या की बेटी हैं। इस बार के यूपी चुनाव में संघमित्रा अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए बिल्कुल तैयार हैं। साल 2012 में संघमित्रा ने बसपा की ओर से कासगंज से चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गई थीं। वहीं, 2014 में संघमित्रा ने सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के खिलाफ मैनपुरी से चुनाव लड़ा था। इसमें भी संघमित्रा को बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था। बता दें कि, संघमित्रा जो कि पेशे से डॉक्टर हैं, यूपी की पडरौना सीट से चुनाव लड़ेंगी।

up_election3

आराधना मिश्रा तिवारी
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता प्रमोद तिवारी की बेटी हैं आराधना मिश्रा तिवारी। यूपी चुनाव 2017 में आराधना प्रतापगढ़ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। कांग्रेस के टिकट पर आराधना चुनाव लड़ेंगी। बता दें कि प्रतापगढ़ विधानसभा क्षेत्र में हुए उपचुनाव में आराधना को 67,000 वोटों से जीत गई थीं। आराधना अपने पिता प्रमोद की तरह राजीनति में काफी एक्टिव रहती हैं।

up_election4

अनुप्रिया पटेल
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री का पद संभाल रहीं अनुप्रिया पटेल भी एक राजनीतिक परिवार से ताल्लुक रखती हैं। अनुप्रिया नेता स्व. सोने लाल पटेल की बेटी हैं। बीजेपी के साथ गठबंधन करने के चक्कर में अनुप्रिया पटेल समेत 6 लोगों को अपना दल से बाहर निकाल दिया गया था। इससे पहले अनुप्रिया पटेल अपना दल की राष्ट्रीय महासचिव के पद पर थीं। बताया जा रहा है कि अनुप्रिया के साथ पटेल समाज के लोग जुड़े हैं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>