समान नागरिक संहिता एवं तीन तलाक पर, केंद्र सरकार के खिलाफ एकजुट हुये कई मुस्लिम सांसद

Oct 16, 2016
समान नागरिक संहिता एवं तीन तलाक पर, केंद्र सरकार के खिलाफ एकजुट हुये कई मुस्लिम सांसद

समान नागरिक संहिता और तीन तलाक मामलो पर मुस्लिम सांसद एकजुट होना शुरू हो गए हैं । आप को बता दे की कॉमन सिविल कोड से जुड़ी विधि आयोग की प्रश्नावली का ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने बहिष्कार करने का एलान किया है। कई सांसदों ने इस मामले को लेकर केंद्र सरकार पर राजनीति करने का आरोप लगाया है। क्यों कि भारत जैसे विविधिताओं से भरे देश में इस तरह के किसी कानून को थोपना लगभग असंभव है।

जदयू सांसद अली अनवर अंसारी ने कहा, सीमा पर तनाव है और ऐसे समय में देश को रहने की जरुरत है। परंतु ऐसे मुददे को आगे बढ़ाकर लोगो को बाटने की कोशिश की जा रही है। यहाँ हर जाति समूह और संप्रदाय के अपने रीति-रिवाज एवं पर्सनल लॉ हैं। भाजपा के लोगों को पता है कि समान नागरिक संहिता लागू करना संभव नहीं है, लेकिन वे जानबूझकर इस मुद्दे को आगे बढ़ा रहे हैं।

ये भी पढ़ें :-  झारखंड सरकार 1 अगस्त से बेचेगी शराब

तृणमूल सांसद सुलतान अहमद ने कहा, समान नागरिक संहिता को आखिर कैसे लागू किया जा सकता है। भारतीय समाज इतना विविध है फिर सभी पर एक कानून कैसे थोपा जा सकता है। इस मामले में सिर्फ राजनीति हो रही है। हमारी मांग है कि देश के सामने खड़ी दूसरी चुनौतियों पर ध्यान दे और इस मामले को लेकर बेवजह बहस में नहीं पड़े।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected