यूनिसेफ की रिपोर्ट : 14 साल में गरीबी 6.9 करोड़ बच्चों को निगल जाएगी

Jun 29, 2016

यूनिसेफ ने अपनी रिपोर्ट में चिंता जताते हुए कहा कि जिन वजहों से बच्चों की मौत होगी, उन्हें रोका जा सकता है। साथ ही, आशंका जताई कि अगले 14 वर्षों में 75 करोड़ लड़कियां कम उम्र में ब्याह दी जाएंगी। यूनिसेफ ने मंगलवार को बच्चों की स्थिति पर जारी ‘स्टेट आफ द वर्ल्ड चिल्ड्रेन’ रिपोर्ट में ये आशंकाएं जाहिर की हैं।

रिपोर्ट में इस भयावह स्थिति से बचने के लिए दुनियाभर के देशों से बच्चों पर ज्यादा ध्यान देने को कहा गया है। बच्चों को गरीबी से निजात दिलाकर शिक्षा मुहैया कराने के साथ अंतरराष्ट्रीय संगठनों से भी इस दिशा में प्रयास तेज करने की अपील की गई है। रिपोर्ट में गरीबी उन्मूलन की दिशा में उठाए गए कदमों की सराहना करते हुए कहा गया है कि हालात पहले से बेहतर हैं। इसके बावजूद बड़ी तादाद में बच्चों का जीवन खतरे में है। इसलिए इस प्रगति को न अच्छा और न ही खराब कहा जा सकता है।

ये भी पढ़ें :-  शिवराज के राज में यह हाल-सरकारी स्कूल में नाबालिग से गैंगरेप

रिपोर्ट के मुताबिक, 1990 से अब तक दुनिया में पांच साल से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर आधी रह गई है। 1990 के मुकाबले बेहद गरीब लोगों की संख्या भी आधी हो गई है। फिर भी पांच साल से कम उम्र के गरीब बच्चों की मौतों का आंकड़ा दोगुना हो गया है, क्योंकि ये ज्यादा कुपोषित होते हैं। रिपोर्ट में अफ्रीका के सब सहारा क्षेत्र के आंकड़े दिए गए हैं। इसमें माध्यमिक तक पढ़ी माताओं के मुकाबले अशिक्षित महिलाओं के बच्चों की मौत का आंकड़ा तीन गुना ज्यादा है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

ये भी पढ़ें :-  रैंप पर उतर गई ड्रेस, लोगों के सामने दिख गया सब कुछ
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected