ब्रिटेन: जनमत संग्रह जारी, अंतिम परिणाम की घोषणा कल

Jun 23, 2016

ब्रिटेन के यूरोपीय संघ में रहने पर जनमत संग्रह शुरु हो चुका है. गुरूवार को ब्रिटेन के 4.65 करोड़ लोग वोटिंग के जरिए अपनी राय रखेंगे.

यह जनमत संग्रह ब्रिटेन के यूरोपीय संघ (ईयू) का सदस्य बने रहने या इससे बाहर निकलने को लेकर कराया जा रहा है.

जनमत संग्रह के मत-पत्र पर सवाल है: ‘ब्रिटेन को यूरोपीय संघ में बने रहना चाहिए या इससे बाहर निकल जाना चाहिए?’ मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हो चुका है जो रात 10 बजे तक चलेगा. मतदान के बाद पहले मतों की गिनती स्‍थानीय स्‍तर पर होगी और यह केंद्र अपने परिणामों की घोषणा करेंगे.

भारत समेत दुनियाभर के देशों की निगाहें इस जनमत संग्रह के फैसले पर टिकी हैं. यूरोपियन यूनियन को लेकर पूरा ब्रिटेन दो पक्षों में बंटा हुआ है. इस मुद्दे को लेकर वैश्विक स्तर पर चर्चा जारी है क्योंकि इसका अंतरराष्ट्रीय वित्तीय बाजारों और विनिमय दरों पर असर पड़ सकता है.

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने ब्रिटेन के मतदाताओं से अपील की कि वे ब्रिटेन के यूरोपीय संघ में बने रहने के पक्ष में मतदान करें और एक ही समय में दो अलग अलग अवसरों का फायदा उठाने से चूके नहीं.

गौरतलब है कि गुरूवार को ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर आने के मुद्दे पर जनमत संग्रह होना है. इसके परिणाम से यूरोप का भविष्य तय होगा. ब्रिटेन के संघ में ‘बने रहने’ के समर्थन में 1,280 बिजनेस नेताओं ने एक पत्र पर हस्ताक्षर करते हुए चेतावनी दी है कि उसके संघ से बाहर आने पर ‘आर्थिक अस्थिरता आएगी और नौकरियों पर संकट आएगा.’ इस जनमत संग्रह का अंतिम परिणाम शुक्रवार सुबह आने की उम्मीद है.

अगर ब्रिटेन ईयू से अलग होता है, तो यह ईयू और ब्रिटेन के इतिहास की सबसे बड़ी घटना होगी. 28 देशों वाले ईयू से पहली बार कोई देश अलग होने की स्थिति में .
 

इन देशों में 51 करोड़ लोग (दुनिया की 7 फीसदी आबादी) रहते हैं. ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के कार्यकाल में इस तरह का यह दूसरा जनमत संग्रह है. सितंबर 2014 में उन्होंने स्कॉटलैंड में यूके का हिस्सा बने रहने के लिए ऐसा किया था. उन्होंने ही स्कॉटलैंड के नागरिकों से यूके को बनाए रखने की अपील की थी.

अब चूंकि खुद ब्रिटेन की बात है, तो दूसरे देशों के कई लोग स्थायी रूप से वहां रहने के लिए आवेदन कर रहे हैं.

भारत के फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्‍की) के महासचिव डॉक्टर ए दीदार सिंह के अनुसार, ब्रिटेन के ईयू से बाहर निकलने पर भारत के लिए मुश्किल पैदा होंगी. इससे ब्रिटेन में काम कर रही कई भारतीय कंपनियों के लिए काफी अनिश्चितता का माहौल बनेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल नवंबर-दिसंबर में अपनी ब्रिटेन यात्रा के दौरान कहा था कि ब्रिटेन कई भारतीय कंपनियों के लिए यूरोपीय संघ में प्रवेश का रास्ता है.

ब्रिटेन के ईयू से बाहर होने पर बयान जारी करेगा जी-7
टोक्यो, 23 जून (रायटर) यूरोपीय संघ से बाहर होने के मुद्दे पर ब्रिटेन में होने वाले जनमत संग्रह में अगर वह इसके पक्ष में फैसला लेता है तो दुनिया के सात बड़े देशों का समूह जी-7 अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसके असर को कम करने को लेकर बयान जारी करेगा.

जी-7 से जुड़े सरकारी कर्मचारियों ने बताया कि अगर ब्रिटेन यूरोपीय संघ से बाहर होता है तो अंतरराष्ट्रीय बाजार में होने वाले इसके असर को कम करने के लिए जी 7 सभी जरूरी कदम उठाते हुए एक बयान जारी करेगा.

ब्रेक्जिट: बाजार स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए तैयार है रिजर्व बैंक
ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर निकलने :ब्रेक्जिट: से जुड़ी अनिश्चितता के घटनाक्रम के बीच रिजर्व बैंक ने बुधवार को कहा कि वह स्थिति पर करीब से निगाह रखे हुए है और नकदी समर्थन समेत हर तरह की पर्याप्त पहल करेगा ताकि बाजारों में सुव्यवस्था बनी रहे.

रिजर्व बैंक ने बयान में कहा, ‘ब्रिटेन के यूरोपीय संघ में बने रहने से जुड़े जनमत संग्रह :ब्रेक्जिट: की आशंका के बीच भारत समेत वैश्विक वित्तीय बाजारों में कुछ हद तक उतार-चढ़ाव हुआ है.’ बयान में कहा गया, ‘आरबीआई इन घटनाक्रमों में करीब से निगाह रखे हुए है और नकदी समर्थन प्रदान करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगा ताकि यह सुनिश्चित हो कि वित्तीय बाजार की स्थितियां सुव्यवस्थित रहें.’

ब्रिटेन में 23 जून को 28 देशों के संगठन यूरोपीय संघ में बने रहने या इससे बाहर निकलने के बारे में जनमत संग्रह है. विश्व भर में ब्रेक्जिट पर चर्चा हो रही है क्योंकि इसका अंतरराष्ट्रीय वित्तीय बाजारों और विनिमय दर पर असर हो सकता है.

भारत का ब्रिटेन और यूरोपीय संघ दोनों के साथ अच्छा-खासा कारोबार है. यूरोप से भारत में भारी-भरकम निवेश होता है.

फेडरल रिजर्व की प्रमुख जेनेट येलेन ने कहा कि ब्रेक्जिट का उल्लेखनीय आर्थिक परिणाम हो सकता है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>