असम: स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकी गतिविधियां तेज, उग्रवादियों के हमले में 2 की मौत

Aug 13, 2016

गुवाहाटी। स्वतंत्रता दिवस के पास आते ही उग्रवादियों ने में गतिविधियां बढ़ा दी हैं। तिनसुकिया जिले के डूमडूमा इलाके में उग्रवादियों ने दो घरों पर अंधाधुंध गोलियां बरसाकर दो लोगों को मार डाला।

इस गोलीबारी में सात लोग घायल हो गए। घटना शुक्रवार के शाम की है।

पुलिस अधिकारियों को संदेह है कि सभी हमलावर, संगठन के थे। शाम को पार्बतीपुर गांव में लोग कीर्तन के लिए जमा हुए थे, जिन पर छह से सात की संख्या में आए हुए उग्रवादियों ने गोलियां बरसाईं।

सीएम सर्वानंद सोनोवाल ने की घटना की निंदा

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इस घटना की भर्त्सना की है और अधिकारियों को हमलावरों को पकड़ने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा, ‘डूमडूमा इलाके में शुक्रवार के शाम की घटना को कायरों ने अंजाम दिया है। जो भी इस हमले में शामिल है, उसे बख्शा नहीं जाएगा।’

ये भी पढ़ें :-  केरल : मुख्यमंत्री ने 2010 गुंडों की गिरफ्तारी के दिए आदेश

घायलों को भेजा गया अस्पताल

जिस क्षेत्र में घटना हुई है वहां सुरक्षा बलों की गश्त बढ़ा दी गई है। घटना में मृतकों की पहचान किशोरी शाह और राजेश शाह के रूप में की गई है। घायलों को डूमडूमा इलाके के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। गंभीर रूप से घायलों को डिब्रूगढ़ के असम मेडिकल कॉलेज भेजा गया है।

एक महीने में हमले की यह दूसरी घटना

6 अगस्त को उग्रवादियों ने कोकराझार में अंधाधुंध गोलियां बरसाकर 13 लोगों की हत्या कर दी थी। पुलिस को संदेह है कि इस हमले को नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट ऑफ बोडोलैंड से अलग हुए एक धड़े ने अंजाम दिया।

ये भी पढ़ें :-  मोदी पंजाब में खून का बेटा, यूपी में दत्तक पुत्र, वाह! : लालू

हिंदी बोलने वालों पर लगातार हो रहे हमले

असम में हिंदीभाषी लोग लगातार उग्रवादियों के निशाने पर रहे हैं। ऊपरी असम में खासतौर पर तिनसुकिया और डिब्रूगढ़ जिले में हिंदीभाषियों पर उल्फा के उग्रवादी हमला करते रहे हैं। पुलिस का कहना है कि आतंक का सहारा लेने की वजह से उग्रवादी संगठनों के समर्थकों में कमी आई है।

कर्बी में कांस्टेबल की हत्या

असम के कर्बी आंगलोंग इलाके के पुलिस थाने पर उग्रवादियों ने गोलियां बरसाईं जिसमें एक कॉन्सेटबल की मौत हो गई।

स्वतंत्रता दिवस से पहले आंतकी गतिविधियां तेज

राज्य में स्वतंत्रता दिवस से पहले असम में प्रतिबंधित उल्फा ने अपनी गतिविधियां तेज कर दी है। पिछले गुरुवार को उल्फा के सदस्यों ने तिनसुकिया के फिलोबारी में आईडी ब्लास्ट किया था।

ये भी पढ़ें :-  केजरीवाल तो बस सपनों के व्यापारी है : अजय माकन

पुलिस का कहना है कि जिले में तनाव पैदा करने के लिए अरुणाचल प्रदेश से उग्रवादी इस क्षेत्र में दाखिल होते हैं। उल्फा ने असम के लोगों से स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार करने को कहा है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected