नशे के खिलाफ आवाज उठाने पर हुई दरिंदगी, बिना कपड़ों के महिला को डेढ़ घंटे तक घुमाया

Dec 08, 2017
नशे के खिलाफ आवाज उठाने पर हुई दरिंदगी, बिना कपड़ों के महिला को डेढ़ घंटे तक घुमाया

देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसे जानकार आपके होश उठ जाएंगे। क्योंकि यहाँ पर एक 33 साल की महिला के साथ न सिर्फ मारपीट की जाती है। बल्कि उस के साथ जोर-जबरदस्ती कर उसके कपड़े उतार दिए जाते हैं और महिला को बिना कपड़ों के ही करीब डेढ़ घंटे तक सरेआम घुमाया जाता है।

बता दें कि ये शर्मनाक घटना राजधानी दिल्ली के नरेला इलाके की है। रोहिणी के डीसीपी रजनीश गुप्ता के अनुसार बुधवार की शाम 7.35 बजे महिला आयोग की टीम ने नरेला जेजे कॉलोनी स्थित आशा नामक महिला के घर में छापेमारी की थी। घर से 312 क्वार्टर और 12 बीयर की बोतलें बरामद हुईं। इस बाबत एक्साइज एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। छापेमारी के समय आशा और उसका पति राकेश घर पर मौजूद नहीं थे। घर पर उनकी बेटी श्वेता मौजूद थी। रात होने के चलते आशा को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया बल्कि सिर्फ उसे नोटिस देकर पुलिस वापस लौट आई।

छापेमारी के दौरान इलाके में नशा मुक्ति पंचायत चलाने वाली दो महिलाएं मौजूद थीं। यह दोनों महिलाएं थानाध्यक्ष द्वारा चलाई जा रही नशा मुक्ति पंचायत के लिए काम करती हैं। उन्होंने मौके पर पुलिस को काफी सहयोग भी किया। इसके चलते आरोपी, उसका परिवार एवं रिश्तेदार नाराज हो गए थे। लेकिन हुआ ये कि कि शराब के इस अवैध धंधे में शामिल कुछ महिलाओं ने ही इस महिला के घर में घुसकर उसे मारा, रोड पर लाकर कपड़े फाड़े और सड़क पर सबके सामने नंगा घुमाया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पीड़ित को मेडिकल के लिए अस्पताल पहुंचाया। वहां से उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई है।
डीसीपी के मुताबिक, इस वारदात में संलिप्त राकेश के खिलाफ पहले से ही इक्कीस आपराधिक मामले और उसकी पत्नी आसा के खिलाफ नौ मामले दर्ज हैं।

ये भी पढ़ें :-  तेजस्वी ने सीएम नीतीश को दी चेतावनी, बोले-'दलितों को कुछ हुआ तो नीतीश की कुर्सी चकनाचूर कर देंगे'

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>