ब्रितानी व्यक्ति पर लगा ट्रंप की हत्या के प्रयास का आरोप

Jun 21, 2016

ब्रितानी मूल के 19 वर्षीय एक युवक को लास वेगास में रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप की रैली के दौरान उनकी हत्या करने के प्रयास का आरोपी बनाया गया है.

इस प्रयास के तहत उसने एक पुलिस अधिकारी की बंदूक छीनने की कोशिश की थी. नेवाडा की संघीय अदालत में दायर शिकायत के अनुसार, माइकल सेनफोर्ड ने ट्रेशर आइलैंड कसीनो के मिस्टेयर थियेटर में शनिवार को आयोजित रैली के दौरान एक अधिकारी से उसके हथियार छीनने की कोशिश की थी.

 इसके बाद इस युवक को काबू कर लिया गया था. ऐसा माना जा रहा है कि इस युवक ने अपनी गिरफ्तारी के बाद सीक्रेट सर्विस के एक एजेंट को बताया कि वह ‘ट्रंप को मारने के लिए’ केलिफोर्निया से लॉस वेगास आया है और गोली चलाना सीखने के लिए वह एक दिन पहले शूटिंग रेंज में भी गया था क्योंकि उसने पहले कभी गोली नहीं चलाई है.
शिकायत में कहा गया, ‘‘सेनफोर्ड जानता था कि वह एक से दो गोलियां ही चला पाएगा और उसने यह कहा है कि उसे पता था कि ट्रंप की जान लेने की कोशिश में वह खुद कानून प्रवर्तन अधिकारियों के हाथों मारा जाएगा.’’
शिकायत में कहा गया कि सेनफोर्ड ने जांचकर्ताओं को बताया था कि उसने फीनिक्स में रैली के लिए टिकट खरीदे थे. उसकी योजना यह थी कि यदि लॉस वेगास में ट्रंप को मारने का प्रयास विफल रहता है तो वह फीनिक्स वाली रैली में ‘एक बार फिर ट्रंप को मारने का प्रयास करेगा.’

 

अभियोजक कार्यालय ने कहा कि सेनफोर्ड को खतरनाक मानते हुए और उसके भाग जाने की संभावना को देखते हुए उसे बिना मुचलके के हिरासत में रखने का आदेश जारी किया गया है.
शिकायत के अनुसार, सेनफोर्ड ने जांचकर्ताओं को बताया कि उसने अधिकारी अमील जैकब की बंदूक को हासिल करने की कोशिश इसलिए की क्योंकि वह बंद करके नहीं रखी हुई थी. रैली में घुसने से पहले होने वाली मेटल डिटेक्टर जांच को देखते हुए रैली के दौरान इस तरह से हथियार हासिल करना सबसे आसान तरीका था.
शिकायत के अनुसार, सेनफोर्ड ने कहा कि यदि वह कल सड़क पर आता है तो ऐसा करने की कोशिश दोबारा करेगा. सेनफोर्ड की गिरफ्तारी एक ऐसे समय पर की गई है जब अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए हाल के इतिहास का सबसे घृणित चुनाव अभियान जारी है.
इसमें हिंसक भाषणबाजी की जा रही है, जिसमें ट्रंप मेक्सिको के लोगों, मुस्लिमों और अन्य समूहों को निशाना बना रहे हैं. ट्रंप की रैलियों में दंगा पुलिस तैनात रही है और हाल की रैलियों के दौरान कई प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है. हाल के महीनों में ट्रंप की रैलियों के दौरान प्रदर्शन बढ़ गए हैं.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

ये भी पढ़ें :-  अपनी अंतिम प्रेस कांफ्रेंस में ओबामा ने कहा- भविष्य में कोई हिंदू भी हो सकता है अमेरिका का राष्ट्रपति
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected