एफ 16 विमानों की बिक्री रोकने पर, अमेरिका,पाक के संबंधों पर पड़ा है असर : अजीज

May 13, 2016

पाकिस्तान को आठ एफ 16 विमानों की बिक्री रोकने के कांग्रेस के फैसले को लेकर पैदा हुए विवाद के चलते अमेरिका के साथ पाक के संबंधों पर असर पड़ा है.

विदेश मामलों पर प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज ने यह बात कही है.
सीनेट के समक्ष अजीज ने स्पष्ट शब्दों में स्वीकार किया कि एफ 16 को लेकर पाकिस्तान और अमेरिका के संबंध पिछले तीन महीनों में दबाव में रहे हैं लेकिन दोनों पक्ष इसे सुलझाने के लिए काम कर रहे हैं.
एफ 16 विमानों की ब्रिकी पर प्रस्तावित सब्सिडी को वापस लेने के अमेरिकी फैसले पर बहस के दौरान गुरुवार को अजीज ने कहा, ‘‘पिछले तीन महीनों में, ऊपर की ओर बढ़ रहे रिश्तों में गिरावट का दौर देखा गया है जो कि आठ एफ 16 विमानों की आंशिक फंडिंग को रोकने के अमेरिकी कांग्रेस के फैसले में झलकता है.’’
अजीज ने अपने भाषण के दौरान कम से कम तीन बार ‘इंडिया फेक्टर’ का भी जिक्र किया.
उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय लॉबी अमेरिकी फैसले को पलटवाने के लिए अनथक प्रयासों में लगी है और सीनेटर रैंड पाल के प्रस्ताव के जरिए इसकी बिक्री को ही रूकवाने का प्रयास किया गया.’’
अजीज ने कहा, ‘‘लेकिन हमने पाकिस्तान को एफ 16 की बिक्री पर भारत की आपत्तियों को मजबूती से नकार दिया है और अमेरिकी रक्षा मंत्री की हालिया भारत यात्रा के दौरान भारत और अमेरिका के बीच हुए विभिन्न रक्षा सौदों की ओर उनका ध्यान आकर्षित किया है. हमने दक्षिण एशिया में सामरिक स्थिरता बनाए रखने के महत्व पर भी जोर दिया है.’’
अजीज ने गुरुवार को अपने इस संबोधन के दौरान यह बात भी कही कि भारत पठानकोट हमले को अमेरिका में पाकिस्तान के खिलाफ इस्तेमाल कर रहा है.
उन्होंने कहा, ‘‘अमेरिका में भारतीय लॉबी भी काफी सक्रियता से आग में घी डालने का काम कर रही है, खासतौर से एक जनवरी 2016 के पठानकोट हमले के बाद से.’’
अजीज ने कहा कि विकीलीक्स खुलासे, रेमंड डेविस और एबटाबाद आपरेशन जैसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के कारण अमेरिका और पाकिस्तान के संबंध वर्ष 2011 में ठहर गए थे.
शीर्ष राजनयिक ने कहा, लेकिन वर्ष 2013 के बाद से अमेरिका के साथ पाकिस्तान के संबंधों में गति आयी थी.
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान विभिन्न मुद्दों पर मतभेदों को सुलझाने तथा कई स्तर पर संबंधों को सुधारने के लिए काम कर रहा है.
अजीज ने अफगानिस्तान में स्थिरता लाने के पाकिस्तान के प्रयासों का भी थोड़ा सा जिक्र किया और कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान, चीन और अमेरिका को मिलाकर बनाए गए समूह की बैठक 18 और 19 मई को इस्लामाबाद में होगी.
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>