शारीरिक उत्पीड़न और हिंसा की शिकार तीन साल की बच्ची ने इलाज के दौरान दम तोड़ा

Jul 21, 2017
शारीरिक उत्पीड़न और हिंसा की शिकार तीन साल की बच्ची ने इलाज के दौरान दम तोड़ा

पश्चिम बंगाल में शारीरिक उत्पीड़न और हिंसा की शिकार तीन साल की बच्ची ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। अस्पताल के सूत्रों ने शुक्रवार को बच्ची की मौत की पुष्टि की।

पुरुलिया जिले की इस बच्ची को पिछले सप्ताह एसएसकेएम अस्पताल में गंभीर हालत में लाया गया था। आरोप है कि एक अधेड़ व्यक्ति ने उसका यौन उत्पीड़न किया और उसे सुइयां चुभोई। इसी व्यक्ति ने उसकी मां को अपने घर में काम पर रखा था।

सूत्रों के अनुसार, “बच्ची के जख्म नहीं भर रहे थे। उसे निमोनिया भी हो गया था। उसने शुक्रवार तड़के दो से तीन बजे के बीच दम तोड़ दिया।”

ये भी पढ़ें :-  रॉड लेकर भारत में दाखिल हुए चीनी सैनिक, जब भारतीय जवानों ने रोका तो..

पुलिस के अनुसार, बच्ची की मां को घरेलू सहायक के तौर पर घर में काम के लिए रखने वाले पूर्व होमगार्ड सनातन ठाकुर के खिलाफ यौन अपराध से बच्चों का संरक्षण (पॉस्को) अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

बच्ची के यौन उत्पीड़न का मामला तब प्रकाश में आया, जब बच्ची की मां उसे सर्दी-खांसी के इलाज के लिए बांकुरा मेडिकल कॉलेज ले गई थीं। वहां चिकित्सकों ने बच्ची के शरीर पर चोटों के कई निशान पाए, जिसमें से कई सुई चुभोने से हुए थे।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>