शादी के 3 महीने बाद ही पति से बोर हो गई थीं रेखा, पति ने कर लिया था सुसाइड..

Oct 10, 2017
शादी के 3 महीने बाद ही पति से बोर हो गई थीं रेखा, पति ने कर लिया था सुसाइड..

बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री भानुरेखा गणेशन उर्फ रेखा मनोरंजन जगत का जाना माना नाम हैं। उनके अभिनय के साथ ही उनकी खूबसूरती के भी सभी कायल हैं। अभिनेत्री रेखा 63 साल की हो गई हैं। उनका जन्म 10 अक्टूबर, 1954 को चेन्नई में हुआ था। वैसे इनकी निजी जिंदगी कॉन्ट्रोवर्शियल रही है।

बता दें कि यासिर उस्मान की लिखी हुई किताब ‘रेखा: द अनटोल्ड स्टोरी’ में राखी की जिंदगी के कई पहलुओं पर नज़र डाली गई है। इस किताब में उनकी शादी का भी किस्सा लिखा हुआ है। किताब में बताया गया है कि आखिर क्यों रेखा ने पति मुकेश अग्रवाल से दूर हो गई थीं। क्योंकि रेखा की शादी सालभर भी नहीं चल पाई थी और शादी के 7 महीने बाद ही उनके पति मुकेश ने मौत को गले लगा लिया था।

इस किताब के अनुसार 4 मार्च,1990 की दोपहर (पहली मुलाकात के ठीक एक महीने बाद) मुकेश अग्रवाल सुरिंदर कौर (रेखा की फ्रेंड) के साथ अभिनेत्री रेखा के घर पहुंचे और शादी के लिए प्रपोज कर दिया। अभिनेत्री मुकेश का एक्साइटमेंट देखकर अवाक थीं। खास बात यह थी कि दोनों की फैमिली मुंबई में नहीं थीं। इसके बावजूद उन्होंने शादी का फैसला कर लिया। शाम को अभिनेत्री रेखा ने लाल रंग की कांजीवरम साड़ी पहनी और मुकेश के साथ शादी के लिए मुंबई के मुक्तेश्वर देवालय पहुंच गईं। पास में ही एक इस्कॉन मंदिर भी था। लेकिन भीड़ होने की वजह से वे वहां नहीं जा पाए। इसी लिए वो रात में मुक्तेश्वर देवालय पहुंचे, लेकिन वहां के पुजारी संजय बोडस उस समय सो चुके थे। लेकिन मुकेश ने उन्हें जगाया और कहा कि वे शादी करना चाहते हैं। संजय की नज़र जब रेखा पर पड़ी तो वो सकते में आ गए। क्योंकि रेखा उन सेलिब्रिटीज में से एक थीं, जो उस मंदिर में दर्शन के लिए अक्सर जाया करती थीं। रात में करीब 10.30 बजे शादी के मंत्र पढ़े गए। उस समय मुकेश की उम्र 37 और रेखा की उम्र 35 साल थी।

ये भी पढ़ें :-  इस अभिनेता ने किया था कभी अक्षय कुमार के साथ काम, आज घर चलाने के लिए खा रहा दर दर की ठोकरें

इन दोनों की शादी के बाद मुकेश ने रेखा से कहा कि उन्हें कुछ फिल्मस्टार दोस्तों के पास जाकर इसकी खुशखबरी देनी चाहिए। लेकिन रेखा को अपने पति का आइडिया पसंद नहीं आया। किसी तरह से उन्होंने अकबर खान, संजय खान और हेमा मालिनी के घर जाने की इच्छा जाहिर की। जब वो हेमा और धर्मेंद्र के घर पहुंचे तो इस दौरान हेमा ने रेखा को गौर से देखा और कहा कि ‘अब यह मत कहना कि तुमने इस आदमी से शादी की है।’ तो उस पर रेखा ने जवाब दिया कि ‘बिल्कुल मैंने ऐसा ही किया है।’ जिसके बाद हेमा ने पूछा कि ‘क्या वह बहुत अमीर है?’ जिस पर रेखा ने कोई जवाब नहीं दिया।

इन दोनों के शुरुआती दिन अच्छे बीत रहे थे। लेकिन कुछ दिन बाद रेखा को महसूस होने लगा कि वे और मुकेश एक-दूसरे से बिल्कुल ही अलग हैं। रेखा को इस बात की हैरानी भी थी कि मुकेश एक दिन में कई दवाइयां लेते थे। फिर भी रेखा ने सोचा कि अब तो उन्हें जीवनभर साथ रहना है, इसलिए ऐसी बातों को नजरअंदाज करना होगा। वे अपने आप से बात करते हुए कहती थीं, “मुझे इसको सफल बनाना है। क्या रेखा कुछ चाहे तो कर नहीं सकती?” दोनों लंदन में एक सप्ताह से ज्यादा रहे। रेखा देख सकती थीं कि कुछ तो है, जो मुकेश को परेशान कर रहा है। फिर एक दिन मुकेश ने उदास मन से रेखा की आंखों में देखा और कहा, “मेरी जिंदगी में भी एक AB है।” उन्होंने जिस AB की बात की थी, वह उनकी साइकोथेरेपिस्ट आकाश बजाज थी, जो 10 साल से उनका ट्रीटमेंट कर रही थी, और दो बच्चों की माँ थीं।

ये भी पढ़ें :-  ये बॉलीवुड अभिनेता अपने बच्चों के खातिर करने जा रहा है दोबारा शादी, जानिए इस बार कौन होगी उनकी दुल्हनियां

इस किताब के अनुसार रेखा से शादी के लिए मुकेश ने आकाश से 9 साल पुराने रिलेशनशिप को छोड़ दिया, और उन्होंने इस फैसले के बारे में आकाश को एक बार भी नहीं बताया। आकाश के कहने के मुताबिक, “मुकेश ने मुझे शादी के लिए प्रपोज किया था। लेकिन मैं अपने बेटियों के साथ उनपर बोझ नहीं बनना चाहती थी। मैंने मुकेश को सलाह दी थी कि उन्हें शादी कर सेटल हो जाना चाहिए। लेकिन रेखा से उनकी शादी मेरे लिए किसी सरप्राइज से कम नहीं थी। मैंने सकते में थी और मुकेश की चिंता भी हो रही थी।”

शादी के बाद रेखा के लिए तीन महीने का समय काफी डरावना लगा। रेखा ने कुछ समय निकाला और चीजों को समझने की कोशिश करने लगीं। लेकिन बात को समझ पाना उनके लिए और मुश्किल होता चला गया। जिसके बाद रेखा ने मुकेश और उनकी फैमिली से दूरी बनानी शुरू कर दी, यहाँ तक कि मुकेश के फोन रिसीव करना तक बंद कर दिया, जिसके बाद डिप्रेशन में चल रहे मुकेश के लिए यह एक और बड़ा झटका था। मुकेश अपने और रेखा के रिश्ते में आ चुकी दरार को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे। ऐसा कहा जाता है कि अगस्त 1990 में मुकेश नींद की गोलियों का ओवरडोज लेकर सुसाइड करने की कोशिश की, जिसके बाद रेखा ने मुकेश को फोन कर ये साफ़ कर दिया कि जब कोई शादी चल न रही हो तो हम क्या कर सकते हैं। रेखा ने कहा था, “मैं उस तरह की महिला बिल्कुल नहीं हूं, जो झूठ के साए में जीवन जीए। ऐसी शादी का क्या मतलब, जिसका कोई भविष्य ही न हो।” इस के बाद मुकेश ने कई बार सुसाइडकरने की कोशिश की। फैमिली और फ्रेंड्स के लिए मुकेश को संभालना काफी मुश्किल हो गया था। मुकेश फ्रस्टेड और डिप्रेस्ड हो चुके थे। उसके बाद 10 सितंबर 1990 को उन्होंने रेखा को फोन किया और दोनों ने काफी लंबी बात की। जहाँ इन दोनों ने तलाक पर सहमति जाहिर की। लेकिन 26 सितंबर 1990 को रेखा अपने एक स्टेज शो के लिए अमेरिका रवाना हो गईं। जिसके बाद 2 अक्टूबर 1990 को मुकेश ने अपने फार्महाउस बसेरा (छतरपुर, नई दिल्ली) में अपने बेडरूम में जाकर रेखा के दुपट्टे से लटककर जान दे दी।

ये भी पढ़ें :-  DDLJ फिल्म में काजोल की माँ का रोल निभाया था इस अभिनेत्री ने, अब हालात देखकर चौक जायेंगे
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>