ये ख्वाजा का नहीं बल्कि भारत माता का हिंदुस्तान है, ख्वाजा वाले पाकिस्तान चले गए: गिरिराज सिंह

Oct 06, 2017
ये ख्वाजा का नहीं बल्कि भारत माता का हिंदुस्तान है, ख्वाजा वाले पाकिस्तान चले गए: गिरिराज सिंह

अपने विवादित बयान से सुर्ख़ियों में रहने वाले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह एक बार फिर सुर्ख़ियों में हैं। उन्होंने एक बार फिर से एक विवादित बयान देते हुए कहा कि ख्वाजा का हिंदुस्तान चाहने वाले 1947 में पाकिस्तान चले गए थे। यह ख्वाजा का नहीं बल्कि भारत माता का हिंदुस्तान है।

इतना ही नहीं उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि नवादा में दुर्गा पूजा में दो पक्षों के बीच संघर्ष के बाद हिंदू परेशान किए जा रहे हैं। अपने संसदीय क्षेत्र नवादा में केंद्रीय मंत्री का कहना है कि सामाजिक समरसता, भारत माता और वंदे मातरम हमारा मूलमंत्र है। हम भारत को विभाजित नहीं होने देंगे। आगे उन्होंने कहा कि ख्वाजा का हिंदुस्तान बनाने वालों से हाथ जोड़ कर कहना चाहूंगा कि ख्वाजा का हिंदुस्तान बनाने वाले 1947 में ही पाकिस्तान चले गए थे। अब भारत का विभाजन नहीं होने देंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नवादा के अकबरपुर में एक पोस्टर पर ख्वाजा का हिंदुस्तान लिखा हुआ था। गिरिराज ने उसी को लेकर यह बात कही है। कि अकबरपुर के लोग धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने प्रतिमा खंडित होने पर भी शांति बनाए रखी। ऐसे लोगों के प्रशासन को पूजना चाहिए। मगर उसके बजाए उनका नाम गलत तरह से मामले में लिया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि विभाजन की रेखा गली-मोहल्ले में खींची जा रही है। अकबरपुर में ताजिया जुलूस के बैनर में लिखा था कि यह ख्वाजा का हिंदुस्तान है। जबकि इसकी सच्चाई तो ये है कि यह ख्वाजा का नहीं बल्कि भारत माता का हिंदुस्तान है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>