एक छात्रा ने ऐसा बेल्ट बनाया है, जिससे लड़कियों को छेड़ने पर लगेगा करंट, जानिये कैसे

Jul 12, 2016

झांसी। ग्यारहवीं कक्षा की एक छात्रा ने एक ऐसा बेल्ट बनाया है जिसे पहनने वाली लड़की को छूने पर मनचलों को करंट लग सकता है। छात्रा शिवानी ने जिस बेल्ट को बनाया है उसका दिल्ली में भी प्रदर्शन हो चुका है। इस बेल्ट को बनाने में सिर्फ 250 रुपये का खर्चा आया है। इस बेल्ट से तीन वोल्ट का करंट लगता है।

झांसी के उनाव गेट के पास रहने वाली शिवानी प्रजापति लोकमान्य तिलक इंटर कॉलेज की छात्रा है। शिवानी ने हाल ही में एक अनोखा बेल्ट बनाया है जो पूरी तरह से इलेक्ट्रानिक डिवाइस है। यह बेल्ट आईसी, मदर बोर्ड, ट्रांसिस्टर, एक छोटे ट्रांसफार्मर, छोटी सी एलईडी और तीन बोल्ट की बैटरी का इस्तेमाल कर बनाया गया है। इन चीज़ों को एक बॉक्स में रखा गया है। बॉक्स इतना छोटा है कि बेल्ट के साथ आसानी से कर पर बाँध सकते हैं। इस बॉक्स में एक स्विच लगाया गया है।

ये भी पढ़ें :-  दिल्ली- एमसीडी चुनाव के लिए मतदान जारी, केजरीवाल ने वोट डाला

इस बॉक्स से एक पतले तार का कनेक्शन किया गया है। तार को कमर में बेल्ट से ही या कपड़ों के अन्दर से होते हुए हाथ पर भी बांध सकते हैं। यदि कोई इस बेल्ट को पहनने वाली लड़की को छूने की कोशिश करता है तो लड़की बेल्ट पर लगे स्विच को ऑन कर सकती है। इसे ऑन करते ही इससे जुड़े वायर में करंट पैदा होता है और छूने वाले को झटका मारता है।

शिवानी के मुताबिक इसमें चार्ज करने का सिस्टम भी लगाया गया है। एक बार चार्ज करने पर यह तीन दिन चलता है। शिवानी के एक बेल्ट को को भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी विभाग सरकार द्वारा इंस्पायर अवार्ड योजना के तहत आईआईटी दिल्ली में सराहना मिल चुकी है। शिवानी का यह मॉडल झाँसी में जिला स्तरीय और राज्य स्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी लखनऊ में भी इस बेल्ट को प्रदर्शित किया जा चुका है।

ये भी पढ़ें :-  जनपद बिजनौर से आई दिव्यांग की योगी ने सुनी समस्याएं

शिवानी कहती है कि उनकी अध्यापक रेखा भारद्वाज ने उसका काफी सहयोग किया। शिवानी पिता दुर्गा प्रसाद प्रजापति पेशे से किसान है। वे चाहते हैं कि बेटी विज्ञान की पढाई कर परिवार और देश का नाम रौशन करे।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>