देश में ‘अघोषित आपातकाल’ जैसे हालात : कांग्रेस

Jun 26, 2017
देश में ‘अघोषित आपातकाल’ जैसे हालात : कांग्रेस

कांग्रेस ने अपनी दिग्गज दिवंगत नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाए गए ‘आपातकाल’ को गलती मानते हुए रविवार को नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली मौजूदा केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि देश के मौजूदा हालात ‘अघोषित आपातकाल’ जैसे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता टॉम वडक्कम ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपातकाल की स्मृतियों को लेकर कुछ बातें कहीं, हमें भी आपातकाल याद है, हम उसे भूले नहीं हैं। लेकिन हम मोदी को यह भी याद रखने के लिए कहेंगे कि इस समय हम अघोषित आपातकाल जैसे हालात झेल रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “अगर उन्हें आपातकाल से सबक मिला है, जैसा कि हम सभी ने लिया है, तो उन्हें अपनी मौजूदा सरकार द्वारा निर्मित नए हालात से भी सबक लेना चाहिए।”

ये भी पढ़ें :-  UP पुलिस का ख़ौफ़नाक चेहरा: गर्भवती को लातों से मारा, महिला ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया

वडक्कम ने कहा, “वास्तविकता यह है कि मीडिया का गला घोंटा जा रहा है, मीडिया के खिलाफ छापेमारी की जा रही है और कुछ ऐसी परिघटनाएं घट रही हैं, जो सिर्फ आपातकाल में ही देखी जा सकती हैं।”

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में रविवार को आपातकाल के उन ‘काले दिनों’ को याद किया, जब हजारों की संख्या में राजनीतिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया था और पूरा देश एक आभासी जेल में तब्दील हो गया था।

वडक्कम ने कहा, “मैं चाहता हूं कि दृश्य-श्रव्य प्रचार निदेशालय (डीएवीपी) इस संबंध में एक श्वेत-पत्र जारी करे कि सरकार के ये विज्ञापन किन्हें दिए जा रहे हैं और पर्दे के पीछे से मीडिया के प्रबंधन में कौन से उद्योग घराने शामिल हैं। बेहद चालाकी से ये हालात पैदा किए जा रहे हैं, जिनकी घोषित आपातकाल से कोई तुलना नहीं है। हम मानते हैं कि आपातकाल एक गलती थी। हमने अपनी गलतियों से सीख ली है। लेकिन हमें हमारी उन गलतियों की याद दिलाते हुए, कृपया खुद को भी सुधारना सीखें। अगर आप इतिहास से नहीं सीखेंगे तो उसे दोहराने के लिए आपकी भी निंदा होगी, जिन हालात से आज देश रू-ब-रू है।”

ये भी पढ़ें :-  ताजमहल के लिए 400 साल तक संरक्षित करने की योजना बनाए योगी सरकार: सुप्रीम कोर्ट
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>