ब्रिटेन की कमान अब 59 साल की थेरेसा के हाथों में

Jul 12, 2016

ब्रिटिश पीएम डेविड कैमरन के पद छोड़ने के बाद थेरेसा के हाथों में ब्रिटेन की कमान होगी. मार्ग्रेट थैचर के बाद वो ब्रिटेन की दूसरी महिला पीएम होंगी.

ब्रिटेन में सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी के संसदीय दल के नेता बनने की दौड़ से एक उम्मीदवार के हट जाने के बाद सोमवार को प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा कि उनकी सरकार में गृह मंत्री की भूमिका निभाने वाली थेरेसा मे बुधवार को देश के नए प्रधानमंत्री का पदभार संभालेंगी.

कैमरन ने कहा कि वह मंगलवार को अपनी आखिरी कैबिनेट की बैठक की अध्यक्षता करेंगे और बुधवार को प्रधानमंत्री के तौर पर आखिरी बार हाउस ऑफ कॉमंस में जाएंगे. इसके बाद वह महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को आधिकारिक तौर पर इस्तीफा सौंपने के लिए बकिंघम पैलेस जाएंगे.

उन्होंने 10 डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर संवाददाताओं से कहा, ‘बुधवार शाम तक मेरे पीछे की इमारत में नया प्रधानमंत्री होगा.’

ये भी पढ़ें :-  भारत, पाकिस्तान को दोस्ती बरकरार रखनी चाहिए : नवाज शरीफ

कैमरन ने कहा, ‘मैं खुश हूं कि थेरेसा मे प्रधानमंत्री होंगी. उनको कंजरवेटिव संसदीय दल का भरपूर समर्थन हासिल है. वह मजबूत हैं, वह सक्षम हैं, वह आने वाले वर्षों में हमारे देश को वो नेतृत्व प्रदान करने सक्षम हैं जिसकी जरूरत होगी.’

बीते 23 जून को जनमत संग्रह में ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से अलग होने के पक्ष में फैसला आने के बाद कैमरन ने पद छोड़ने का ऐलान किया था.

ब्रिटेन में 59 साल की थेरेसा दूसरी महिला प्रधानमंत्री बनेंगी. इससे पहले मार्गरेट थैचर प्रधानमंत्री रहीं थीं.

थेरेसा मे ने संसद भवन के बाहर एक बयान में कहा कि वह टोरी पार्टी का नेता चुने जाने से बहुत सम्मानित महसूस करती हैं.

उन्होंने कैमरन के नेतृत्व की जमकर तारीफ की और नेतृत्व की दौड़ में शामिल दूसरे नेताओं की भी प्रशंसा की.

 

ब्रिटेन की भावी प्रधानमंत्री ने कहा, ‘ब्रेक्जिट का मतलब ब्रेक्जिट है और हम इसको सफल बनाने जा रहे हैं. हमें अपने देश को एकजुट करने की जरूरत है. हम लोगों को उनकी जिंदगियों पर अधिक नियंत्रण देने जा रहे हैं और इस तरह से हम बेहतर ब्रिटेन बनाएंगे.’

ये भी पढ़ें :-  किम जोंग-नाम की हत्या बेहद खतरनाक रसायन से की गई

इससे पहले दिन में थेरेसा की एकमात्र प्रतिद्वंद्वी आंदिया लीडसम ने कंजरवेटिव संसदीय दल का नेता बनने की उम्मीदवारी वापस ले ली. उनके इस नाटकीय कदम के बाद टेरेसा का प्रधानमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया.

कैमरन मंत्रिमंडल में ऊर्जा मंत्री की भूमिका निभाने वाली आंद्रिया ने थेरेसा मे का समर्थन किया.

आंद्रिया ने कहा, ‘एक मजबूत और भरपूर समर्थन वाले प्रधानमंत्री की तत्काल नियुक्ति से हमारे देश के हितों की रक्षा की जा सकेगी. ऐसे में मैं नेतृत्व के चुनाव से अपनी उम्मीदवारी वापस ले रही हूं. मैं थेरेसा मे की बहुत अधिक सफलता की कामना करती हूं. मैं उनको पूरे सहयोग का विश्वास दिलाती हूं.’

ये भी पढ़ें :-  किम की मौत पर उत्तर कोरिया के राजदूत तलब

इस 53 वर्षीय टोरी सांसद ने कहा, ‘हमारे देश के सर्वश्रेष्ठ हितों ने मुझे अपने नेतृत्व के लिए खड़ा होने को प्रेरित किया. मेरा मानना है कि यूरोपीय संघ से अलग होने के बाद उज्वल भविष्य हमारा इंतजार कर रहा है. जनमत संग्रह के नतीजे ने बदलाव की स्पष्ट अकांक्षा को प्रस्तुत किया है.’

कंजरवेटिव सांसदों की 1922 समिति के प्रमुख ग्राहम ब्रैडी ने संवाददाताओं से कहा कि थेरेसा मे अब एकमात्र उम्मीदवार बच गई हैं और ऐसे में उनके नेता बनने का महज औपचारिक ऐलान होना बाकी है.

बाद में कैमरन के बयान से पुष्टि हो गई कि अब कंजरवेटिव पार्टी के नेतृत्व को लेकर आगे मुकाबले की जरूरत नहीं है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected