खुद के मतलब के लिए तत्कालीन सरकारों ने कराए थे संसद और मुंबई हमले

May 24, 2016

नईदिल्ली। संसद और मुंबई पर हुआ 26/11 का आतंकी हमला सरकार प्रायोजित था। गृह मंत्रालय के पूर्व अंडर सेक्रेटरी आरवीएस मणि ने एसआईटी के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से यह दावा किया है।

मणि ने इशरत जहां मामले में गुजरात हाईकोर्ट में दो हलफनामे दायर किए थे। गृह मंत्रालय के पूर्व अधिकारी से एसआईटी ने गुजरात के गांधीनगर में इशरत जहां मामले से जुड़े कई सवाल पूछे थे।

मणि ने 21 जून 2013 को केंद्रीय शहरी विकास सचिव सुधीर कृष्णा को इस पूछताछ के बारे में बताया था। मणि के मुताबिक एसआईटी के आईजी सतीश चंद्र वर्मा ने उनसे ऐसे कई सवाल किए, जिनका उनसे आधिकारिक संबंध नहीं था। इसी दौरान वर्मा ने मणि से बताया कि 13 दिसंबर 2001 को संसद पर और मुंबई में हुआ आतंकी हमला तत्कालीन सरकारों ने कराया था। वर्मा के मुताबिक इसका मकसद आतंकवाद निरोधी कानून को मजबूत करना था। संसद हमले के बाद पोटा आया, जबकि मुंबई हमले के बाद यूएपीए में संशोधन किया गया। दूसरी ओर वर्मा ने इन बातों से इनकार किया है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>