हॉस्पिटल प्रशासन की शर्मनाक हरकत: प्रेगनेंट महिला को नहीं किया भर्ती, खुले मैदान में बच्चे को जन्म देने पर हुई मजबूर

Dec 26, 2017
हॉस्पिटल प्रशासन की शर्मनाक हरकत: प्रेगनेंट महिला को नहीं किया भर्ती, खुले मैदान में बच्चे को जन्म देने पर हुई मजबूर

देश में हो रही हॉस्पिटल की लापरवाही का मामला बढ़ता ही जा रहा है। हर आए दिन ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं जहाँ पर हॉस्पिटल प्रशासन की ओर से काफी लापरवाही देखने को मिली है। एक ऐसा ही शर्मनाक मामला सामने आया है जहाँ पर हॉस्पिटल प्रशासन ने एक प्रेगनेंट महिला को हॉस्पिटल में भर्ती नहीं किया, जिसके बाद महिला को खुले मैदान में ही बच्चे को जन्म देना पड़ा।

बता दें कि ये मामला मध्य प्रदेश के डिंडोरी जिले के एक हॉस्पिटल का है। वहां की रहने वाली समाजवादी देवी ने हॉस्पिटल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि “मैं हॉस्पिटल पहुंची थी। जब मुझे दर्द हो रहा था। उन्होंने मुझे सही से नहीं देखा।” महिला के बयां के मुताबिक उन्होंने कहा कि “मुझे बताया कि मेरा बच्चा पेट में ही मर चुका है। मैं दर्द से चिल्ला रही थी। तभी एक नर्स ने मुझे छप्पड़ भी मारा और मुझसे कहा कि हॉस्पिटल को छोड़ दो। मैं हॉस्पिटल में भर्ती भी नहीं हुई थी।” महिला ने बताया कि “उन्होंने मुझे हॉस्पिटल छोड़ने के लिए मजबूर किया और मेरे पास कोई दूसरा विक्लप भी नहीं था।” लेकिन जब महिला और बाकी रिश्तेदार हॉस्पिटल से घर की तरफ जा रहे थे। तब महिला को जोरों का दर्द उठा और उसके बाद महिला ने बच्चे को खुले मैदान में ही जन्म दिया।

इस घटना के बारे में महिला के रिश्तेदार ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि “हमने महिला के आस-पास खड़े हो कर बच्चे को जन्म लेने में मदद की, यहां तक की आस-पास के लोगों ने हमें गर्भनाल काटने के लिए ब्लेड दिया। इस शर्मनाक मामले के सामने आने के बाद डिंडोरी के सीएमओ आर के मेहरा ने मीडिया से बताया कि हॉस्पिटल के कर्मचारियों पर कार्रवाई होगी जो इस घटना के जिम्मेदार हैं। हालांकि प्रसव के बाद रिश्तेदारों और आस-पास के लोगों ने ‘जननी एक्सप्रेस’ को बुलाकर वापस महिला को जिला हॉस्पिटल में कराया गया। जहाँ महिला का इलाज जारी है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>