तीन दशकों में दूसरी बार, सुप्रीम कोर्ट एक भी मुस्लिम जज नहीं

Sep 06, 2016
तीन दशकों में दूसरी बार, सुप्रीम कोर्ट एक भी मुस्लिम जज नहीं

जानकर ताज्जुब होगा कि मौजूदा वक़्त में सुप्रीम कोर्ट में एक भी मुस्लिम जज नहीं है। गुजिशता 11 वर्षों में ऐसा पहली बार हुआ है। इसी साल सुप्रीम कोर्ट से दो मुस्लिम जज रिटायर हो गए।

पिछले करीब तीन दशकों में ऐसा दूसरी बार हुआ है कि देश की सर्वोच्च अदालत में कोई मुस्लिम जज नहीं है। आखिरी बार 2012 में सुप्रीम कोर्ट में किसी मुस्लिम जज की नियुक्ति हुई थी।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जस्टिस एमवाई इकबाल और जस्टिस फकीर मोहम्मद 2012 में सुप्रीम कोर्ट के जज बने थे।

दोनों ही इस साल रिटायर्ड हो गए। सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार के बीच उच्चतम न्यायालय में जजों की नियुक्ति को लेकर गतिरोध जारी रहने के कारण नई नियुक्ति में वक्त लग रहा है।

इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के प्रति अपनी नाराजगी भी जाहिर की है। वहीं समय-समय पर भारत के मुख्य न्यायधीश ने कई मंचों पर इसको लेकर सरकार से आग्रह भी किया है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>