गोली मारना है तो मुझे मार दो, मेरे दलित भाइयों को नहीं: PM मोदी

Aug 08, 2016

गुजरात के ऊना में हुई दलितों की बर्बर पिटाई के बाद इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी रविवार को हैदराबाद में बोले. उन्होंने कहा कि अगर किसी को हमला करना है तो मुझ पर करे.

ना में दलितों की बर्बर पिटाई के बाद इस समुदाय में पैदा हुए आक्रोश की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसको लेकर राजनीति बंद करने का आह्वान करते हुए रविवार को कहा कि वह दलित भाइयों की जगह पर ‘गोली खाने और हमला झेलने’ के लिए तैयार हैं.

उन्होंने इस बात पर जोर दिय कि समाज को जाति और समुदाय के आधार पर बंटने नहीं दिया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें :-  मणिपुर के उप मुख्यमंत्री आतंकी हमले में बाल-बाल बचे

भावुक अपील करते हुए मोदी ने लोगों से कहा कि वे दलितों की रक्षा और सम्मान करें क्योंकि इस वर्ग की समाज द्वारा लंबे समय से उपेक्षा की गई है.

उन्होंने यहां भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं इन लोगों से कहना चाहता हूं कि अगर आपको कोई समस्या है, अगर आपको हमला करना तो मुझ पर हमला करिए. मेरे दलित भाइयों पर हमला बंद करिए. अगर आपको गोली मारनी है तो मुझे गोली मारिए, लेकिन मेरे दलित भाइयों को नहीं. यह खेल बंद होना चाहिए.’

प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर देश को प्रगति करनी है तो शांति, एकता और सद्भाव के मुख्य मंत्र की उपेक्षा नहीं की जा सकती.

ये भी पढ़ें :-  यूपी में 5 वर्षों से अखिलेश सीएम हैं, फिर क्यों पूछते हैं, अच्छे दिन कब आएंगे-अमित शाह

उन्होंने कहा, ‘देश के विकास का मुख्य सोत देश की एकता है.’
 

उनका यह बयान उस वक्त आया है जब देश के कई हिस्सों में तथाकथित गोरक्षकों की ओर से दलितों और मुसलमानों के खिलाफ हिंसा करने को लेकर राजग सरकार को तीखी आलोचना का सामना करना पड़ा है.

मोदी ने कहा कि कुछ घटनाएं संज्ञान में आती हैं तो ‘बहुत दुख’ होता है. उन्होंने कहा, ‘‘दलितों की रक्षा करना और उनका सम्मान करना हमारी जिम्मेदारी होनी चाहिए.’

उन्होंने कहा, ‘मैं जानता हूं कि यह समस्या सामाजिक है. यह पाप का परिणाम है जो हमारे समाज में घर कर गया है. परंतु हमें अतिरिक्त सावधानी बरतने और समाज को ऐसे खतरे से बचाने की जरूरत है.’ मोदी ने कहा कि समाज को जाति, धर्म और सामाजिक हैसियत के आधार पर बंटने नहीं देना चाहिये.

ये भी पढ़ें :-  व्यापमं में रिश्वत खाने वालों को सजा कब होगी : भाजपा सांसद

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘जो लोग इस सामाजिक समस्या का समाधान करना चाहते हैं, उनसे मैं ऐसी राजनीति छोडने का आग्रह करता हूं जो समाज को बांटती हो. विभाजनकारी राजनीति से देश का कोई भला नहीं होगा.’

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected