यूनान में दुर्घटनाग्रस्त मिस्र का विमान,आतंकी हमले की आशंका

May 20, 2016

पेरिस से 66 लोगों को लेकर काहिरा जा रहा इजिप्टएयर का एक विमान आज यूनान के क्रीट द्वीप से कुछ दूर भूमध्यसागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

मिस्र ने कहा कि ऐसी संभावना है कि यह हादसा तकनीकी गड़बड़ी से कहीं ज्यादा आतंकवादी हमले की वजह से प्रतीत होता है. यूनान के एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि मिस्र के एक खोजी विमान ने क्रीट के दक्षिण पूर्व में नारंगी रंग के दो चीजों का पता लगाया है जिनके बारे में माना जाता है कि वे इजिप्टएयर उड़ान से संबद्ध हैं.

यूनान के सरकारी टीवी ईआरटी ने पहले खबर दी थी कि क्रीट से करीब 425 किलोमीटर मलबे का पता चला है जो एयरबस ए 320 की अंतिम ज्ञात अवस्थिति से करीब 100 नौटिकल मील दूर है.

मिस्र के नागर विमानन मंत्री शेरीफ फाथी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इजिप्टएयर उड़ान के लापता होने की वजह तकनीकी विफलता के बजाय आतंकी हमला कहीं ज्यादा सटीक जान पड़ती है.

जब उनसे पूछा गया कि क्या तकनीकी वजह इस हादसे की वजह है फाथी ने कहा, ‘‘उल्टे, यदि आप स्थिति का गहन विश्लेषण करेंगे तो (आप पाएंगे कि) भिन्न कार्रवाई या आतंकी हमले की संभावना तकनीकी विफलता की संभावना से कहीं ज्यादा है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम आतंकवादी हमले या तकनीकी गड़बड़ी की संभावना से इनकार नहीं करते हैं.’’

विमान में तीन बच्चों समेत 56 यात्री, चालक दल के सात सदस्य और तीन सुरक्षाकर्मी सवार थे. उस पर मिस्र के 30 नागरिकों के अलावा 15 फ्रांसीसी मुसाफिर, दो इराकी और ब्रिटेन, बेल्जियम, कुवैत, सऊदी अरब, सूडान, चाड, पुर्तगाल, अलजीरिया और कनाडा के एक-एक मुसाफिर सवार थे.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद ने पहले इस बात की पुष्टि की थी कि इजिप्टएयर एयरबस ए 320 दुर्घटनाग्रस्त हो गया.  उन्होंने टेलीविजन पर प्रसारित भाषण में कहा, ‘‘हमें यह अवश्य सुनिश्चित करना चाहिए कि क्या हुआ, हम उसके सभी कारणों को जान पाएं. किसी भी परिकल्पना से इनकार नहीं किया जा सकता या उसका पक्ष नहीं लिया जा सकता.’’

ओलांद ने कहा, ‘‘चाहे यह हादसा है या कोई अन्य परिकल्पना जो सभी के दिमाग में है- आतंकवादी परिकल्पा…. इस समय हमें दुखी परिवारों के साथ एकजुटता तथा इस त्रासदी के कारणों का पता लगाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.’’   वैसे इस हादसे के कारणों के बारे में किसी भी बात की पुष्टि नहीं हुई है लेकिन फ्रांस और मिस्र पर पिछले साल आईएसआईएस के हमले हुए.

पेरिस के अभियोजक कार्यालय ने कहा कि उसके दुर्घटना विभाग ने इस घटना की जांच शुरू कर दी है.

यूनान के रक्षा मंत्री पानोस कम्मेनोस ने कहा कि मिस्र की वायुसीमा में विमान ने 22,000 फुट पर गोता खाया और अचानक उसकी दिशा बदल गयी एवं वह रेडार से लापता हो गया.

कम्मेनोस ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘विमान बायीं ओर बिल्कुल 90 डिग्री पर (यानी लंबवत) मुड़ा और फिर वह दायी ओर 360 डिग्री पर मुड़ा. उसके बाद 37,000 फुट की ऊंचाई से 15,000 फुट की ऊंचाई पर आ गया एवं 10,000 फुट की ऊंचाई पर सिग्नल बंद हो गया.’’

हालांकि यूनान के विमानन अधिकारियों ने पहले कहा था कि विमान यातायात नियंत्रकों ने कुछ मिनट पहले ही पायलट से बात की थी और सबकुछ सामान्य जान पड़ा था.

मिस्र और यूनान, दोनों ने विमान एवं नौसैनिक जहाज खोज मिशन पर भेजे हैं. फ्रांसीसी टीम के भी उनके साथ जुड़ने की संभावना है.

मिस्र की वायुसीमा में प्रवेश करने के तुरंत बाद इजिप्टएयर का विमान भूमध्यसागरीय बंदरगाह शहर अलेक्जेंड्रिया के उत्तर में मिस्र के समुद्री तट से करीब 280 किलोमीटर दूर रडार से लापता हो गया.

विमानन के अधिकारियों ने बाद में बताया कि विमान हादसाग्रस्त हो गया और मलबे की तलाश अब चल रही है. उन्होंने कहा, ‘‘इस आशंका की पुष्टि हो गयी है कि विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया .’’ विमान में सवार लोगों के रिश्तेदार खबरों के इंतजार में काहिरा और पेरिस हवाई अडडों पर इकट्ठा हो गए.

फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क आर्यल्ट ने पेरिस चाल्र्स डि गाल में संकट केंद्र में उनके कुछ रिश्तेदारों से भेंट की और कहा कि उनके लिए यह बड़ा संवेदनात्मक क्षण है.

यह उड़ान पेरिस से कल रात स्थानीय समयानुसार 11 बजकर नौ मिनट पर रवाना हुई और उसे आज दिन में मिस्र की राजधानी में स्थानीय समयानुसार सवा तीन बजे के बाद पहुंचना था.

स्थानीय मीडिया ने इजिप्टएयर के एक बयान के हवाले से कहा है कि मिस्र की सेना के बचाव एवं खोजी विभाग को प्रात: लगभग चार बजकर 26 मिनट पर संकट में फंसे होने की सूचना मिली थी, उससे दो घंटे पहले उड़ान लापता हो गयी थी. वैसे मिस्र की सेना ने इस बात से इनकार किया है कि ऐसा कोई संदेश मिला है.

मिस्र के प्रधानमंत्री शेरीफ इस्माइल ने कहा कि फिलहाल यह कहना जल्दबाजी होगी कि तकनीकी समस्या या फिर आतंकवादी हमले से यह हादसा हुआ. उन्होंने काहिरा हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम किसी चीज से इनकार नहीं कर सकते.’’

ओलांद ने आपात बैठक भी की और मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल सीसी से फोन पर बातचीत की. दोनों नेता इस हादसे से संबद्ध स्थिति का यथाशीघ का पता लगाने के लिए घनिष्ठ सहयोग पर सहमत हुए.

मिस्र के नागर विमानन मंत्री फाथी से जब पूछा गया कि क्या वर्ष 2013 में विमान में हुआ पिछली तकनीकी गड़बड़ी इस हादसे की वजह हो सकती है, तो उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछली गड़बड़ी :जिसे कुछ साल पहले सही कर लिया गया था: को इस विमान हादसे का कारण होने के बारे कुछ नहीं कह सकते. ’’

फाथी ने कहा, ‘‘कुछ लोग कहते हैं कि तकनीकी गड़बड़ी है लेकिन यह संभव नहंी है. कोई भी व्यक्ति ऐसा विमान नहीं उड़ाएगा जिसमें तकनीकी गड़बड़ी हो. कोई भी विमान उड़ान भरने से पहले कई जांच से गुजरता है.’’

इजिप्टएयर यात्रियों के परिवारों को काहिरा हवाई अड्डे के समीप ठहराया है और उसने उन्हें डॉक्टर, अनुवादक और अन्य सभी जरूरी सेवाएं उपलब्ध करायीं है.

मार्च में अलेक्जेन्ड्रिया से काहिरा जा रहे इजिप्टएयर के एक अन्य विमान को अगवा कर लिया गया था और इसे साइप्रस की ओर जाने के लिए मजबूर किया गया था. वहां विमान अपहर्ता ने अपनी पूर्व पत्नी से मिलाने की मांग की थी.  उसने दावा किया था कि उसने विस्फोटक परिधान पहन रखा है लेकिन वह फर्जी साबित हुआ था. उसने यात्रियों और चालक दल को मुक्त करने के कुछ घंटे बाद आत्मसमर्पण कर दिया था.

उससे पहले, अक्तूबर में इस्लामिक स्टेट ने मिस्र की आरामगाह शर्म अल शेख से रवाना हुए रूसी एयरलाइन्स के एक विमान को बम से उड़ाने की जिम्मेदारी ली थी. इस हमले में विमान में सवार सभी 224 लोग मारे गए थे.

 

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>