कश्मीर के लोगों को अपने भविष्य का फैसला करने का मिले हक़, वे भारत के साथ खुश हैं तो वहीं रहें

Sep 26, 2016
कश्मीर के लोगों को अपने भविष्य का फैसला करने का मिले हक़, वे भारत के साथ खुश हैं तो वहीं रहें

उडी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच बिगड़ते मिज़ाज़ को देखते हुए भारत के पाकिस्तानी राजदूत अब्दुल बासित ने कशमीर समस्या की ओर इशारा करते हुए कहा कि लड़ाई किसी मसले का हल नहीं है

कोलकाता के अखबार ‘टेलीग्राफ’ को दिए इंटरव्यू में उन्होंने उड़ी हमले में पाकिस्तान का हाथ हरगिज़ न बताते हुए , कहा मेरा मानना है की पाकिस्तान का इस हमले से कोई लेना-देना नहीं है.

भारत की ओर से पाकिस्तान को बार-बार आतंकवादी मुल्क कहे जाने पर बासित ने कहा- वह महज जुमलेबाजी है. हम भी ऐसे जुमले का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन उससे कोई फायदा नहीं होने वाला है दो देशों के रिश्ते जुमलेबाजी से नहीं चलते।

कश्मीर के मुद्दे पर उन्होंने कहा, हमारी किसी भी इलाके पर न तो दावा करने की मनसा है और न ही हमारा नजरिया ऐसा है हम तो यह कहना चाहते हैं कि जम्मू-कश्मीर के लोगों को अपना भविष्य तय करने के लिए बेहतर मौका मिलना चाहिए. अगर वे भारत के साथ खुश हैं और वहां से जुड़ा महसूस करते हैं तो वैसे ही रहें. पाकिस्तान को कोई समस्या नहीं है. लेकिन अपना भविष्य तय करना कश्मीर का हक है. कश्मीर महज एक इलाका भर नहीं है. यहां 1 करोड़ 20 लाख लोगों की जिंदगी का सवाल है

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>