नोटबंदी पर मोदी सरकार का नया दावा- ‘देश में देह व्यापार में आई है बड़ी कमी’

Nov 08, 2017
नोटबंदी पर मोदी सरकार का नया दावा- ‘देश में देह व्यापार में आई है बड़ी कमी’

नोटबंदी को एक साल पूरा होने पर भाजपा इसके बड़े-बड़े फायदे गिनाने में लगी हुई है। नोटबंदी को लेकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नोटबंदी लागू किए जाने के बाद देश में देह व्यापार में कमी आई है।

बता दें कि नोटबंदी से फायदे गिनाने भोपाल पहुंचे रविशंकर प्रसाद ने कहा कि दलालों को नकद भुगतान नहीं होने से देह​व्यापार में कमी आई है। हालांकि रविशंकर प्रसाद ने अपने इस दावे के समर्थन में कोई आंकड़ा पेश नहीं किया है। उन्होंने कहा कि “नोटबंदी के बाद जो 99 प्रतिशत राशि वापस आई है, वो सारी सफेद नहीं है।” उन्होंने बताया कि “23 लाख बैंक खातों में जमा 3.68 करोड़ नकदी की जांच चल रही है। 17.73 लाख पैन कार्ड धारकों की जांच की जा रही है, 4.7 लाख लेन-देन भी संदिग्ध बताए गए हैं।”

रविशंकर प्रसाद ने अपने बयान में आगे बताया कि, “नोटबंदी के दौरान 16000 करोड़ रुपये वापस नहीं आए हैं, जबकि 29,213 करोड़ रुपये की अघोषित आया छापों के दौरान पकड़ी गई। सिर्फ 1.5 लाखों लोगों ने कुल मुद्रा का एक तिहाई यानी 5 लाख करोड़ रुपये जमा करा दिए. 2.24 लाख शेल कंपनियों का पंजीयन रद्द किया गया है।” उन्होंने आंकड़ों के आधार पर ये दावा किया कि 2013-14 में 220 करोड़ रुपये का डिजिटल भुगतान हुआ जबकि 2016-17 में यह 1076 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। इनकम टैक्स देने वाले 26.6 फीसद तक बढ़ गए हैं।

उन्होंने जो प्रेसनोट बांटा उसमें यह दावा भी किया गया है कि नोटबंदी की वजह से वेश्यावृत्ति के लिए होने वाली महिलाओं और लड़कियों की तस्करी को भी गहरा आघात लगा है। लेकिन जब उनसे पनामा पेपर्स से जुड़े सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले की जांच करवा रही है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>