बदला ‘मुगलसराय रेलवे स्‍टेशन’ का नाम, अब पहचाना जाएगा ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय’ के नाम से

Oct 14, 2017
बदला ‘मुगलसराय रेलवे स्‍टेशन’ का नाम, अब पहचाना जाएगा ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय’ के नाम से

दिल्ली-हावड़ा रेलवे मार्ग का प्रमुख रेलवे स्टेशन मुगलसराय के नाम को केंद्र सरकार ने बदलने का फैसला किया है। केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। जिसमें मुगलसराय स्टेशन का नाम बदला जाना है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलकर पंडित दीन दयाल उपाध्याय करने के प्रस्ताव दिया था, जिसपर केंद्र से सहमति जताई गई है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय 1968 में रहस्यमय हालात में मुगलसराय स्टेशन पर मृत पाए गए थे। मुगलसराय स्टेशन का निर्माण 1862 में उस समय हुआ था, जब ईस्ट इंडिया कंपनी हावड़ा और दिल्ली को रेल मार्ग से जोड़ रही थी।

इस मामले पर संसद में हंगामा होने पर संसदीय मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था कि उपाध्याय के नाम के बजाय मुगल के नाम में एक रेलवे स्टेशन को पंसद करना सही सोच नहीं है। उन्होंने कहा था, “क्या सभी चीजों के नाम सिर्फ नेहरू-गांधी के नाम पर रहेंगे? बहुत सारे लोगों ने देश के लिए बलिदान किया है।”

ये फैसला आ जाने के बाद जहां एक तरफ भाजपाई पंडित दीनदयाल के नीतियों के प्रसार में बड़ा कदम मान रहे हैं और खुशी मना रहे हैं। वहीं मुगलसराय का नाम बदल कर लाल बहादुर शास्त्री के नाम पर रखने को लेकर लंबे समय से आंदोलन कर रहे लोग इसे धोखाधड़ी बता रहे हैं।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>