किम जोंग-नाम की हत्या बेहद खतरनाक रसायन से की गई

Feb 24, 2017
किम जोंग-नाम की हत्या बेहद खतरनाक रसायन से की गई

उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई किम जोंग-नाम की हत्या करने के लिए बेहद खतरनाक रसायन का इस्तेमाल किया गया था। मलेशिया की पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। पिछले सप्ताह कुआलालंपुर हवाईअड्डे से मकाउ के लिए विमान पकड़ने के दौरान रास्ते में किम की संदेहास्पद परिस्थितियों में जहर के प्रभाव से मौत हो गई थी।

समाचार पत्र द स्टार की रपट के मुताबिक, पुलिस प्रमुख खालिद अबु बकर ने एक बयान में कहा कि रसायन की पहचान ‘वीएक्स नर्व एजेंट’ के रूप में की गई है, जो किम की आंखों तथा चेहरे से लिए गए स्वैब में पाया गया है।

किम की हत्या के लिए जिस रसायन का इस्तेमाल किया गया, वह बेहद जहरीला है और संयुक्त राष्ट्र ने इसे व्यापक जनसंहार का हथियार माना है। बकर ने कहा कि किम पर हमला करने वाली दो में से एक महिला की हालत गंभीर है, क्योंकि वह भी जहर के प्रभाव में आ गई थी।

रपट के मुताबिक, अधिकारियों ने कहा कि संदिग्धों का इरादा कुआलालंपुर हवाईअड्डा तथा उस इलाके को दूषित करना था, जहां से वह गुजरी थीं।

बकर ने कहा कि जहर का विश्लेषण किया जा रहा है और पुलिस इसकी जांच कर रही है कि प्रतिबंधित रसायन मलेशिया में कैसे आया।

उन्होंने कहा, “अगर इस जहरीले रसायन को कम मात्रा में देश में लाया गया है, तो इसका पता लगाना हमारे लिए मुश्किल होगा।”

पुलिस प्रमुख के मुताबिक, वियतनाम की एक महिला तथा इंडोनेशिया की एक महिला ने मिलकर किम के चेहरे पर एक द्रव्य छिड़क दिया और बाद में हाथ धोकर दोनों घटनास्थल से भाग निकलीं।

शव पर दावा किसे करना चाहिए, इस कूटनीतिक विवाद के बीच किम का शव अस्पताल के शवगृह में ही पड़ा है।

रपट के मुताबिक, मलेशिया ने कहा है कि यह निश्चित तौर पर उत्तर कोरियाई एजेंटों का हमला है। इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिसमें एक उत्तर कोरियाई महिला तथा दो अन्य महिलाएं हैं, जिनसे किम ने हवाईअड्डे पर बातचीत की थी।

मलेशिया के उपप्रधानमंत्री जाहिद हामिदी ने कहा कि दूतावास की रपट के मुताबिक, शव उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के सौतेले भाई की थी, लेकिन मलेशिया में उत्तर कोरिया के राजदूत ने मृतक की पहचान करने से इनकार कर दिया।

प्योंगयांग ने कहा कि उसके एक नागरिक की मौत के लिए मलेशिया जिम्मेदार है। उन्होंने शव को वापस लौटाने के मुद्दे का राजनीतिकरण करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि शव को लौटाने से पहले किम के परिवार के डीएनए नमूने की मांग करना ‘हास्यास्पद’ है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>