यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा: घायलों को हॉस्पिटल ले जाने से किया इंकार, बोले-‘गंदी हो जाएगी गाड़ी’

Jan 19, 2018
यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा: घायलों को हॉस्पिटल ले जाने से किया इंकार, बोले-‘गंदी हो जाएगी गाड़ी’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। एक तरफ सीएम योगी पुलिस की छवि सुधारने के लिए नित नये कदम उठा रहे हैं लेकिन वहीं कुछ पुलिसकर्मियों के चलते पूरे डिपार्टमेंट को शर्मसार होना पड़ रहा है। हुआ ये कि गुरुवार की रात सड़क हादसे के शिकार दो नाबालिग बच्चों ने पुलिसवालों के सामने ही सड़क पर तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया लेकिन वे उन्हें अपनी सरकारी गाड़ी से हॉस्पिटल नहीं ले गए। उनका कहना था कि इनके खून से गाड़ी गंदी हो जाएगी, इसलिए वे उन्हें हॉस्पिटल नहीं ले जाएंगे।

बता दें कि ये मामला उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के नगर कोतवाली क्षेत्र का है। मिली जानकारी के मुताबिक नुमाइश कैंप सेतिया विहार के रहने वाले दो नाबालिग अर्पित खुराना 17 और सन्नी 17 बाइक से गुरुवार रात घर जा रहे थे। लेकिन हुआ ये कि बेरी बाग इलाके के मंगलनगर चौक पर अनियंत्रित होकर उनकी बाइक एक खंभे से टकरा गई। जिसके चलते दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। ये देखते ही आसपास के लोग वहां पहुंचे और उन्होंने इसकी जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम को दी। पुलिस मौके पर पहुंच भी गई लेकिन हुआ ये कि जब पुलिस से घायलों को अस्पताल पहुंचाने को कहा गया तो उन्होंने गाड़ी गंदी होने का हवाला देते हुए गाड़ी में ले जाने से इंकार कर दिया। ये देख लोग पुलिस के सामने गिड़गिड़ाते रहे। लेकिन लोगों की लाखों मिन्नतों के बाद भी जब पुलिस का दिल नहींं पसीजा तो किसी तरह से दूसरे वाहन की व्यवस्था करके घायलों को हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन वहां डॉक्टर्स ने युवकों को मृत घोषित कर दिया।

इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। और पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाने के साथ ही लोगों का कहना है कि इस घटना से स्पष्ट है कि आपकी सेवा और सुरक्षा में सदैव तत्पर का स्लोगन देने वाली यूपी पुलिस की गाड़ी की सफाई दो युवा जिंदगियों से ज्यादा कीमती है। इस बारे में एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने कहा कि यह घटना गंभीर है और वह वीडियो को देख रहे हैं और जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस और हर आम आदमी का पहला कर्तव्य है कि वह घायलों को अस्पताल पहुंचायें और वह किसी को अस्पताल पहुंचाने से इंकार नहीं कर सकते हैं।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>