मध्य प्रदेश में हुई घटना इस बात का संकेत है कि ईवीएम से छेड़छाड़ संभव है: केजरीवाल

Apr 02, 2017
मध्य प्रदेश में हुई घटना इस बात का संकेत है कि ईवीएम से छेड़छाड़ संभव है: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि मध्य प्रदेश में हुई घटना इस बात का संकेत है कि ईवीएम से छेड़छाड़ संभव है। भारतीय निर्वाचन आयोग (ईसीआई) अगले लोकसभा चुनाव 2019 से पहले 9 लाख से ज्यादा ईवीएम को टेंपर-प्रूफ एम3 ईवीएम से बदलेगा।

केजरीवाल ने रविवार को ट्वीट किया, “क्या इसका मतलब है कि मौजूदा ईवीएम से छेड़छाड़ हो सकती है? यह बहुत डरावना है। मध्य प्रदेश की घटना से पता चलता है कि इसका सॉफ्टवेयर बदला गया था।”

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों के तुरंत बाद बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने आरोप लगाया कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की गई थी।

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) सहित दूसरी विपक्षी पार्टियों ने शनिवार को मध्य प्रदेश के अटेर और बांधवगढ़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव से पहले एक आधिकारिक प्रदर्शन में ईवीएम के खराब होने के बाद निर्वाचन आयोग से इसकी जांच की मांग की।

कांग्रेस ने ईवीएम की विश्वसनीयता पर राजनीतिक दलों की असहमति पर निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर मत पत्र प्रणाली पर लौटने का आग्रह किया था।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ईसीआई से दोषपूर्ण ईवीएम के मामलों की जांच का आग्रह किया, जिससे यह पता चल सके कि क्या इन्हें भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में करने के लिए हाल में हुए मणिपुर, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और गोवा विधानसभा चुनावों में छेड़छाड़ किया गया था।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>