अपने मुस्लिम दोस्तों से मिलने पहुँची थीं हिन्दू लड़की, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने लड़की को पीटा

Jan 03, 2018
अपने मुस्लिम दोस्तों से मिलने पहुँची थीं हिन्दू लड़की, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने लड़की को पीटा

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। जिस में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गुंडागर्दी करते हुए दो हिन्दू लड़कियों की बुरी तरह से पीटाई कर दी है और वो भी सिर्फ इस लिए क्योंकि इन्होंने अपने मुस्लिम दोस्त से मुलाकात की, जो इनको पसंद नहीं आया।

बात दें कि ये मामला कर्नाटक के मेंगलुरु शहर का है। जहाँ के पुलिस कमिश्नर टी आर सुरेश का इस पुरे मामले के बारे में कहना है कि ‘शहर के पूर्वोत्तर इलाके में स्थित पिलिकुला में लड़कियों पर हमला किया गया। हमला करने वाले बजरंग दल के कार्यकर्ता हैं।’ टी आर सुरेश ने बताया कि मेंगलुरु पुलिस ने गुंडागर्दी करने वालों के खिलाफ आईपीसी की धारा 506 (आपराधिक धमकी), 342 (गलत इरादे से रोकना) और 355 (अपमान करने के इरादे से हमला) के तहत दर्ज कर लिया है।

ये भी पढ़ें :-  छेड़छाड़ से तंग बहनों ने खून से लिखा पीएम मोदी को खत, लगाई सुरक्षा की गुहार

पुलिस कमिश्नर टी आर सुरेश ने इस बारे में बताया कि, दोनों लड़कियां मेंगलुरु से 23 किलोमीटर दूर तालीपड़ी इलाके में स्थित प्री यूनिवर्सिटी कॉलेज की छात्रा हैं। जहाँ इन दोनों ने अपने मुस्लिम दोस्त से मुलाकात की थी। जो इन बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को पसंद नहीं आया जिसके चलते। इन दोनों को इन लोगों ने बुरी तरह से पीटा। जिसकी पुलिस जाँच कर रही है। इस मामले में ऐसा बताया जा रहा है कि इस में पुलिस का भी हाथ है। क्यों कि 20 दिसंबर को सुब्रमण्यम मंदिर के पास अपने मुस्लिम दोस्त के साथ टहल रही छात्रा को पुलिस पहले थाने लेकर गई थी। जिसके बाद राज्य के गृह मंत्री ने आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।


इस बारे में लड़की का कहना है कि “हम दोनों सिर्फ दोस्त हैं। मैंने उसे मंदिर के पास सिर्फ उससे मिलने के लिए बुलाया था। हम दोनों ने एक फ़िल्म में साथ काम किया है। इसीलिये मैंने उसे बुलाया। मैं उसे अपने साथ पूजा करने ले जाना चाहती थी लेकिन कुछ लोगों ने विरोध कर दिया। जिसके बाद मुझसे मेरी आईडी कार्ड के बारे में पूछा गया। मेरे पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था। इतने में पुलिस आ गई और मुझे स्टेशन ले गई। मेरे दोस्त को भी वहां बुलाया गया। उसे अपनी बात रखने का मौका भी नहीं दिया गया और पुलिस उसे बेहरहमी से पीटने लगी।” उस ने बताया कि “पुलिस स्टेशन में मुझ पर दबाव डाला गया कि मैं उसके खिलाफ बोलूं, नहीं तो मुझ पर आतंकी होने का झूठा मुकदमा चलाया जाएगा। इतना ही नहीं, पुलिस ने मेरी बहन की शादी को रुकवा देने की धमकी भी दी। इसलिए मैंने केस किया। हम सिर्फ दोस्त हैं। हम दोनों के रिश्ते को लेकर झूठी खबर फैलाई गई जिसके चलते हम दोनों का करियर खराब हो रहा है।”

ये भी पढ़ें :-  भूख की वजह से मर गयी विधवा, "भाजपा सरकार ने शाख बचाने के लिए घर में अनाज रख बनवाया वीडियो"
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>