डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर मोदी सरकार पर साधा गया निशाना

Jun 02, 2016

विपक्षी दलों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर आज केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आश्चर्य जताते हुए कहा कि क्या यही ”अच्छे दिन का वादा” था.

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने कहा कि सरकार को बढ़ोतरी तत्काल वापस ले लेनी चाहिए.

तृणमूल कांग्रेस ने पेट्रोल एवं डीजल की कीमत में बढ़ोतरी को आम जनता पर ‘बोझ’ करार दिया, जबकि माकपा ने भी इस वृद्धि का विरोध किया.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने ट्विटर पर लिखा, ”मोदी सरकार ने पिछले एक महीने में तीसरी बार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की. क्या यही अच्छे दिन का वादा था.”

इससे पहले कांग्रेस की प्रवक्ता सुष्मिता देव ने भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में पिछले तीस दिनों में तीसरी बार बढ़ोतरी के लिए सरकार पर हमला किया.

सुष्मिता ने कहा, ”इस असंवेदनशील सरकार ने महिलाओं को भी नहीं बख्शा जो पहले ही दाल और सब्जी की बढ़ी कीमतों से परेशान हैं. गैर सब्सिडी वाले सिलेंडर पर 21 रूपये और व्यावसायिक सिलेंडर पर 37 रूपये बढ़ाकर जनता को दोहरा झटका दिया गया है.”

तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता डेरेक ओब्रायन ने कहा, ”फिर से डीजल और पेट्रोल की कीमत में बढ़ोतरी की गई. आम जनता पर एक और बोझ डाला गया.”

पश्चिम बंगाल में माकपा सचिव सूर्यकांत मिश्रा ने कहा, ”मोदी सरकार की ओर से पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी आम आदमी की तकलीफ को और बढ़ाएगी. क्या मुख्यमंत्री (ममता बनर्जी) की खामोशी ‘मुद्दा आधारित’ समर्थन का हिस्सा है?”

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>