मोदी सरकार की दूसरी वषर्गांठ प्रचार समिति सुषमा स्वराज को सौंपी गई जेटली बाहर

Apr 07, 2016

मोदी सरकार की दूसरी वषर्गांठ से भी वित्तमंत्री और सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली बाहर हैं. इस बार विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को प्रचार समिति की बागडोर सौंपी गई है.

कृषि बीमा योजना के प्रचार के समय भी  संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद को प्रचार समिति का अध्यक्ष बनाया गया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल के एक साल पूरे होने पर बहुत ज्यादा प्रचार-प्रसार नहीं किया था, लेकिन दूसरी वषर्गांठ पर सरकार की उपलब्धियों के प्रचार-प्रसार की खासा तैयारियां की जा रही हैं. सरकारी स्तर पर पिछले दो सालों में क्या-क्या हुआ, इसका लेखा-जोखा तैयार किया जा रहा है.

हरेक मंत्रालय उपलब्धियों को ब्योरा तैयार कर रहा है. इस काम की जिम्मेदारी सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के पास ही रहती है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री अरुण जेटली ने अपने मंत्रालय की सभी मीडिया यूनिटों के प्रमुखों, प्रसार भारती के अधिकारियों को बुलाकर प्रचार-प्रसार की रूपरेखा तैयार करने के लिए एक लंबी बैठक ली. उन्होंने अधिकारियों से सलाह मशविरा लिया और आगे प्रचार सामग्री तैयार करने को कहा. उस दिशा में मंत्रालय काम कर रहा है.

लेकिन सरकार के स्तर पर प्रचार प्रसार की बड़ी योजना बनाने की जिम्मेदारी सुषमा स्वराज को सौंपी गई है. इस समिति में शामिल अन्य मंत्रियों में वेंकैया नायडू, रविशंकर प्रसाद, पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह हैं. कमेटी के गठन की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है, लेकिन अंदरूनी स्तर पर सभी को काम करने को कहा गया है.

 

अरुण जेटली को बाहर रखने के पीछे तर्क दिया गया है कि वित्त मंत्रालय के काम के ज्यादा बोझ के कारण उन्हें इस काम से दूर रखा गया है. लेकिन उनसे आवश्यक सलाह ली जाएगी.
इससे पहले गत जनवरी में कृषि बीमा योजना के प्रचार प्रसार के लिए बनी कमेटी से भी जेटली को बाहर रखा गया था.

उस कमेटी का अध्यक्ष संचार एवं सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को बनाया गया था. उस समिति में कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह, मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी, सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर और पर्यावरण एवं वन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को शामिल किया गया था.

सूत्रों का कहना है कि टीवी, रेडियो और अखबारों में मोदी सरकार की उपलब्धियों को प्रभावशाली तरीके से बताने के लिए विज्ञापन के महारथी पीयूष पांडेय को जिम्मेदारी दी गई है. 2014 के आम चुनाव में नरेंद्र मोदी का चुनाव प्रचार पांडेय ने ही संभाला थी. इनका नारा-अबकी बार-मोदी सरकार- लोगों की जुबान पर चढ़ गया था.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>