कुचिभोटला को नम आँखों से दी गई अंतिम विदाई

Feb 28, 2017
कुचिभोटला को नम आँखों से दी गई अंतिम विदाई

अमेरिका में ‘घृणा अपराध’ का शिकार हुए श्रीनिवास कुचिभोटला को उनके परिजनों, रिश्तेदारों, मित्रों तथा विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने अश्रुपूर्ण नेत्रों से अंतिम विदाई दी। उनकी अंत्येष्टि यहां मंगलवार को जुबली हिल्स स्थित श्मशान भूमि में की गई।

कुचिभोटला के पिता के.मधुसूदन शास्त्री ने अपने बेटे को मुखाग्नि दी, इस दौरान वहां मौजूद लोग तख्तियां लेकर खड़े थे, जिस पर लिखा था ‘नस्लवाद मंजूर नहीं।’

केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव मुरलीधर राव, भाजपा के अन्य नेता, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) तथा अन्य पार्टियों के नेता, अभिनेत्री जीविता तथा उनके पति राजशेखर ने उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि दी।

इंजीनियर के शव को उनके घर बचुपल्ली से लाया गया था।

जैसे ही उनकी अंतिम यात्रा शुरू हुई, उनके माता-पिता बिलखने लगे। वहीं उनकी पत्नी सुनयना डुमाला उनकी अंतिम झलक पाने के बाद रो पड़ीं।

कुचिभोटला के शव को एक कार्गो विमान से सोमवार रात अमेरिका से यहां लाया गया था, जबकि उनकी पत्नी व अन्य रिश्तेदार यात्री विमान से यहां पहुंचे।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के कंसास राज्य के ओलेथ में ऑस्टिंस बार एंड ग्रील में एक पूर्व अमेरिकी नौसैनिक एडम डब्ल्यू परिंटन ने गोली मारकर इंजीनियर कुचिभोटला (32) की हत्या कर दी थी और आलोक रेड्डी मदासानी (32) को घायल कर दिया था। मामले में बीच-बचाव करने आया एक अमेरिकी नागरिक ईयान ग्रिलोट (24) भी घायल हो गया था।

परिंटन की पीड़ितों से कथित तौर पर बहस हुई थी और उसने नस्लीय टिप्पणियां की थीं। उन्हें गोली मारने से पहले वह उन पर चिल्लाया था, ‘दफा हो जाओ मेरे देश से’, ‘आतंकवादी।’

हैदराबाद के कुचिभोटला तथा तेलंगाना के वारंगल जिले के मदसानी अमेरिका के कंसास में गार्मिन कंपनी में एविएशन प्रोग्राम मैनेजर के पद पर कार्यरत थे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>