इस मौके पर दिल खोलकर ऑनलाइन शॉपिंग करेंगे ग्राहक

Oct 01, 2016
इस मौके पर दिल खोलकर ऑनलाइन शॉपिंग करेंगे ग्राहक

त्योहारी माहौल में ग्राहकों को लुभाने के लिए ई-कॉमर्स कंपनियों ने खास तैयारियां कर ली हैं। भारी-भरकम छूट के ऑफर देकर उनकी ग्राहकों को खींचने की रणनीति रहेगी। इस मौके को ग्राहक भी हाथ से नहीं छोड़ने वाले। वे दिल खोलकर शॉपिंग करने के मूड में हैं। एसोचैम की रिपोर्ट की मानें तो भारतीय 25 हजार करोड़ रुपये की ऑनलाइन फेस्टिव शॉपिंग कर सकते हैं।

एसोचैम के महासचिव डीएस रावत ने जानकारी दी कि एक अक्टूबर से शुरू हो रहा यह फेस्टिव सीजन ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए बेहद खास रहने वाला है। इसमें भारतीयों की ओर से 25 हजार करोड़ रुपये खर्च करने की उम्मीद है। बीते साल उन्होंने 20 हजार करोड़ रुपये की खरीदारी की थी। दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट और स्नैपडील का फेस्टिव ऑफर एक से पांच अक्टूबर तक चलेगा। इसी प्रकार अमेजन दो से छह अक्टूबर तक त्योहारों पर विशेष रियायती ऑफर देगी।

नवरात्र के साथ शुरू हो रहे त्योहारी सीजन में अब उनकी ओर से खरीदारी के सभी रिकॉर्ड टूटने के आसार हैं। एसोचैम ने 25 हजार पेशेवरों पर एक सर्वे किया है। इनमें करीब 60 फीसद ने पारंपरिक की बजाय ऑनलाइन खरीदारी को तरजीह देने की बात कही। इसकी वजह उन्होंने शॉपिंग में सहूलियत, ज्यादा डिलीवरी ऑप्शंस, भुगतान के विविध तरीके और बेहतर ऑफर को बताया।

फिलहाल, विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि ई-कॉमर्स कंपनियों को अतीत से सबक लेते हुए तमाम बंदोबस्त कर लेने चाहिए। उन्हें ग्राहकों की बाढ़, लॉजिस्टिक्स और तकनीक संबंधी चुनौतियों के लिए पुख्ता तैयारी करनी होगी। नहीं तो यही मौका उनके लिए बदनामी का सबब भी बन सकता है। पिछले सीजन में समय पर सुपुर्दगी और सामान बदलने जैसी समस्याएं पेश आई थीं।

सर्वे में 25 से 40 आयु वर्ग के पेशेवरों को हिस्सा बनाया गया। ये ऑटोमोबाइल, बायोटेक्नोलॉजी, बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज, बीमा, एनर्जी, आइटी, मीडिया व एंटरटेनमेंट, फार्मास्यूटिकल, रियल एस्टेट जैसे सेक्टरों में काम कर रहे थे। सर्वे में देशभर के शहरों को लिया गया। इनमें दिल्ली-एनसीआर, अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, कोलकाता, लखनऊ और मुंबई शामिल हैं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>