भयंकर बाढ़ की तबाही: हुई 90 लोगों की मौत, 1 करोड़ से ज्यादा आबादी बाढ़ में फंसी बचाव के लिए जुटी सेना

Aug 17, 2017
भयंकर बाढ़ की तबाही: हुई 90 लोगों की मौत, 1 करोड़ से ज्यादा आबादी बाढ़ में फंसी बचाव के लिए जुटी सेना

भारी बारिश की वजह से गंगा और उसकी सहायक नदियों में आई बाढ़ पूरे उत्तर बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में कहर ढ़ा रही है। जहाँ इन दोनों राज्यों में पिछले दो दिनों में 90 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि एक करोड़ से भी ज्यादा आबादी बाढ़ में फंसी हुई है। जहाँ कई इलाकों का संपर्क देश के दूसरे हिस्सों से कट गया है। जहाँ ना जाने कितने कई पुल भी बह गए हैं। जिसकी वजह से सड़क के साथ-साथ रेलमार्ग बाधित हुए हैं, और दर्जन से भी ज्यादा ट्रेनों को रद्द किया जा चूका है। तो दूसरी तरफ राहत और बचाव कार्य के लिए सेना, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और हेलीकॉप्टरों को लगा दिया गया है। स्कूलों और कॉलेजों को बंद कर दिया गया है।

बता दें कि बिहार के चौदह- भागलपुर, कटिहार, सुपौल, पूर्णिया, मधेपुरा, सहरसा, मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, शिवहर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज और इसी तरह से यूपी के गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, सीतापुर, बलरामपुर, गोंडा, बाराबंकी, बहराइच समेत 15 जिलों में स्थिति काफी खराब हो गई है। दर्जनों भी ज्यादा जगह तट-बंध के टूटने से एक करोड़ से भी अधिक आबादी फंसी हुई है। जिनको बचाने के लिए सेना की मदद ली जा रही है। वहीँ पश्चिम चम्पारण में हेलीकॉप्टरों से जवानों को उतारा जा रहा है। जबकि उत्तर बिहार की बागमती, लखनदेई, अधवारा समूह की कई नदियां, कोसी, बूढ़ी गंडक तथा गोरखपुर में राप्ती आदि सहायक नदियां तेज उफान पर हैं। जहाँ और भी खतरों की संभावना बनी हुई है।

ये भी पढ़ें :-  रेप के आरोप में घिरे 'फलाहारी बाबा' हुए गिरफ्तार, सामने आई सच्चाई

इसी तरह से मोतिहारी-वाल्मीकिनगर, नरकटियागंज-साठी, सीतामढ़ी-रक्सौल, सुगौली-रक्सौल, दरभंगा-सीतामढ़ी पर ही कई ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। और और दूसरी ओर दिल्ली की तरफ से जानेवाली कई ट्रेनों को भी रद्द किया जा चूका है। और कई जगहों पर बाढ़ पीड़ित लोग आंदोलन पर उतारू हो गए हैं।
बिहार भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि पार्टी राज्य के बाढ़ पीड़ितों की सेवा एवं सहायता के लिए तत्पर है। इसके लिए राज्य एवं जिला स्तर पर बाढ़ पीड़ित सहायता केंद्र खोले गए हैं। बुधवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान में उन्होंने कहा कि ‘पार्टी की ओर से पहले ही मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में 11 लाख रुपये देने की घोषणा की गई है।’

ये भी पढ़ें :-  16 लाख रोज़ कमाने वाले राम रहीम अब जेल में करेंगे सब्जियों की खेती, मिलेगी 20 रुपए मजदूरी

आपको बताते चलें कि यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह ने ‘स्वतंत्रता दिवस’ के मौके पर जलमग्न थाना परिसरों में झंडारोहण करने वाले पुलिसकर्मियों को पुरस्कृत करने की घोषणा भी की है। यहाँ 13 अगस्त से घाघरा नदी का जलस्तर लगातार बढ़ने की वजह से बहराइच के थाना बौण्डी में काफी पानी भर गया। और दूसरी तरफ सिद्धार्थनगर के थाना जोगिया उदयपुर के परिसर में भी खूब पानी भर गया। लेकिन इन सब के बाद भी यहाँ पुलिस कर्मियों द्वारा पूरे उत्साह व मनोयोग के साथ दोनों थाना परिसरों में झण्डारोहण पूरे जोश के साथ किया गया।

दूसरी तरफ रेलवे स्टेशनों में ट्रैक पर खूब पानी भर जाने के कारण रेलवे ने अवध-असम समेत चार ट्रेनें सोमवार को निरस्त रहीं। इसके साथ-साथ नई दिल्ली से न्यू जलपाईगुड़ी जाने वाली ट्रेन नंबर (12524), ट्रेन नंबर (15652) और जम्मू-गुवाहटी, ट्रेन नंबर (15904) चंडीगढ-डिब्रूगढ़ टाउन एक्सप्रेस भी निरस्त रहीं। इसके अलावा आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नई दिल्ली डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस गुरुवार को निरस्त रहेगी। जबकि ट्रेन 15653 गुवाहाटी-जम्मूतवी एक्सप्रेस गुरुवार को गुवाहाटी-बरौनी के मध्य निरस्त रहेगी।

ये भी पढ़ें :-  क्या बुलेट ट्रेन के कर्ज का ब्याज चुकाने के लिए बढ़ी है पेट्रोल-डीजल की कीमत?: शिवसेना

यहाँ आपको बाते चलें कि अभी तक मघुबनी में 8, मोतिहारी में 6, सीतामढ़ी में 13 व बेतिया में 10 लोगों की मौत हुई है। जबकि पश्चिमी व पूर्वी चंपारण तथा मधुबनी में बचाव कार्य के लिए सेना को बुलाया गया है। जहाँ बाढ़ के चलते 19 तक स्कूल को बंद कर दिया गया है। जबकि मुजफ्फरपुर के औराई में 25 हजार व साहेबगंज में 13 हजार लोग प्रभावित हुए हैं और 16 जगहों पर बांध भी टूट चुके हैं।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>