कांग्रेस ने भाजपा को आईएसआई-प्रमाणित पार्टी करार दिया

Feb 17, 2017
कांग्रेस ने भाजपा को आईएसआई-प्रमाणित पार्टी करार दिया

कांग्रेस ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) द्वारा प्रमाणित पार्टी करार देते हुए मध्य प्रदेश में आईएसआई से जुड़े एक जासूसी गिरोह का भंडाफोड़ होने के मामले की सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में जांच की मांग की। कांग्रेस ने कहा कि कथित तौर पर भाजपा-आईएसआई के बीच के संबंधों की जांच होनी चाहिए, क्योंकि मध्य प्रदेश में गिरफ्तार 11 लोगों में से तीन लोगों का संबंध प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी से है।

आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने गुरुवार को भोपाल में एक जासूसी गिरोह का भंडाफोड़ किया और कथित तौर पर आईएसआई के लिए काम करने तथा सैन्य जानकारियों को सीमा पार पहुंचाने को लेकर 11 लोगों को गिरफ्तार किया।

एटीएस ने कई गुप्त टेलीफोन एक्सचेंजों का भी खुलासा किया है। साथ ही हजारों सिम कार्ड तथा भारी संख्या में मोबाइल फोन बरामद किए हैं, जिसका इस्तेमाल आईएसआई के अधिकारियों से संपर्क साधने में किया जाता था।

जासूसी नेटवर्क ने संवेदनशील तथा सैन्य सूचनाओं को आईएसआई तथा पाकिस्तान की अन्य एजेंसियों से साझा किया। जब वे पकड़े गए, तब खुलासा हुआ कि उनका नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। साथ ही चार बड़े शहरों में टेलीफोन एक्सचेंज भी स्थापित किए गए थे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, “तीन देश विरोधी लोगों के ताल्लुकात भाजपा से पाए गए हैं। आईएसआई से मान्यता प्राप्त यह दुनिया की पहली राजनीतिक पार्टी बन गई है। यह भाजपा का सच्चा चेहरा व चरित्र है।”

उन्होंने कहा, “इस मामले की छानबीन व जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपकर इसकी निगरानी सर्वोच्च न्यायालय को करनी चाहिए। भाजपा ने राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया है। आंतरिक सुरक्षा से इस तरह का समझौता कहीं नहीं किया जा सकता।”

सिंधिया के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए 11 लोगों में से कम से कम तीन लोगों के संबंध भाजपा से हैं।

उन्होंने कहा, “भोपाल में गिरफ्तार ध्रुव सक्सेना भाजपा के आईटी सेल तथा भारतीय जनता युवा मोर्चा का सदस्य है। उसके भाजपा के कई सांसदों के साथ मजबूत रिश्ते हैं। उसकी तस्वीरें मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ हैं।”

सिंधिया ने कहा, “ग्वालियर से गिरफ्तार जितेंद्र सिंह भी भाजपा के कई नेताओं का करीबी है।”

उन्होंने कहा, “बजरंग दल से जुड़ा बलराम सिंह जासूसी नेटवर्क का मास्टरमाइंड है। नेटवर्क के सदस्यों को पैसा वही देता है। वह आईएसआई के खातों से विदेशी मुद्राओं को हस्तांतरित करने में भी शामिल था।”

कांग्रेस नेता ने कहा, “चौथा शख्स आशीष सिंह विश्व हिंदू परिषद (विहिप) का है। विहिप ने उसे हाल में निष्कासित कर दिया था।”

भाजपा की ओर इशारा करते हुए सिंधिया ने कहा कि राष्ट्रविरोधी तत्वों को पनाह देने में शामिल पाई गई सत्ताधारी पार्टी राष्ट्रवाद के बारे में बातें करती है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>