देश भर में महाशिवरात्रि की धूम, जलाभिषेक के लिए उमड़े श्रद्धालु

Mar 07, 2016

फाल्गुन मास कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को पड़ने वाला महापर्व महाशिवरात्रि इस बार सोमवार के साथ विशेष संयोग लेकर आया है.

सोमवार को भगवान शिव का ही दिन माना जाता है, इस दिन महाशिवरात्रि पड़ने से अनेक प्रकार के शुभ संयोग बना है. इससे यह महाशिवरात्रि और भी पुण्यदायक हो गई है.

देश भर में महाशिवरात्रि पर्व श्रद्धापूर्वक और धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है. श्रद्धालु पूरे उत्साह और उमंग के साथ शिवालयों में जा रहे हैं और भगवान शिव की पूजा अर्चना कर रहे हैं. आज सुबह से ही शिवालयों में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है.

सुबह से ही भक्‍तों की लंबी लाइनें मंदिर में लगी हुई हैं. चारों तरफ ‘हर हर महादेव’ गुंजायमान हो रहा है. श्रद्धालु भगवान शंकर को प्रसन्न करने के लिए लोग जल, पुष्प और दूध से अभिषेक कर रहे हैं.

मान्यता है कि महाशिवरात्रि पर आराधना से भगवान शंकर प्रसन्न होकर अपने भक्तों को मनचाहा वरदान देते हैं. दिल्‍ली में गौरी शंकर मंदिर समेत सभी शिव मंदिरों में लोग सुबह से ही जलाभिषेक और पूजा अर्चना के लिए जुट रहे हैं. बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के सभी शिवालयों में मंगलवार को महाशिवरात्रि पर्व की धूम देखी जा रही है. शिव मंदिर भक्तों के हर-हर महादेव के नारों से गूंज रहे हैं.

वहीं, झारखंड के बाबा वैद्यनाथ मंदिर में महाशिवरात्रि के मौके पर शिव भक्‍त बड़ी तादाद में पहुंचे हैं और पूजा अर्चना कर रहे हैं. देवघर में आज श्रद्धालुओं की अपार भीड़ जुटी है. सुबह से ही श्रद्धालुओं की लंबी कतार लग गई. प्रशासन की ओर से पूजा अर्चना कराने की व्यवस्था की गई है, इसके लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल की भी तैनाती की गई है.

मध्य प्रदेश में महाशिवरात्रि पर्व उत्साह और उमंग के साथ मनाया जा रहा है. शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है और हर तरफ बम बम भोले के जयकारे गूंज रहे हैं.

उज्जैन के महाकाल मंदिर और वाराणसी के काशी मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ बाबा भोले के दर्शन और उन्हें जल चढ़ाने के लिए उमड़ पड़ी है. शिव मंदिरों को सजाया भी गया है. महाशिवरात्रि का पर्व हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है क्योंकि यह सोमवार को पड़ा है इसलिए इस पर्व का महत्व बढ़ जाता है.

महा शिवरात्रि के मौके पर लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा, यमुना और पौराणिक सरस्वती के संगम में डुबकी लगा कर पवित्र स्नान किया. इसके साथ ही 54 दिनों से चल रहा श्रद्धा और भक्ति का पर्व महाकुंभ का समापन हो गया.

शुभ संयोग ये भी है कि आज ही महाशिवरात्रि भी है और 237 सालों के बाद ये भक्ति योग बना है. इलाहाबाद के महाकुंभ में पुण्य की आखिरी डुबकी लगाने के लिए देश विदेश से लाखों लोग संगम तट पर मौजूद हैं.

महाशिवरात्रि के अवसर पर चंडीगढ़ समेत पंजाब और हरियाणा के मंदिरों में बड़ी संख्या में भक्त इकट्ठा हुए. सुबह से ही मंदिरों में पूजा अर्चना के लिए भक्तों का जाना शुरू हो गया था.नदियों और पवित्र ‘सरोवरों’ में भी भक्तों ने डुबकी लगायी और विशेष पूजा-अर्चना की.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>