स्वामी ओम की गिरफ्तारी पर 20 मार्च तक रोक

Mar 15, 2017
स्वामी ओम की गिरफ्तारी पर 20 मार्च तक रोक

यहां एक अदालत ने मंगलवार को बिग बॉस के प्रतिभागी रहे स्वामी ओम की गिरफ्तारी पर 20 मार्च तक रोक लगा दी। स्वामी ओम पर एक महिला के साथ छेड़छाड़ करने और उसे धमकाने का आरोप है। स्वामी ओम की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए विशेष न्यायाधीश हिमानी मल्होत्रा ने स्वामी ओम के दावों के पीछे की सच्चाई जानने के लिए दरियागंज पुलिस उपायुक्त के कार्यालय में लगी सीसीटीवी फुटेज जमा करने के लिए और समय दे दिया।

अपने बेगुनाही का दावा करते हुए स्वामी ओम ने अदालत से कहा कि वह तो दरियागंज के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के कार्यालय में गए थे, जिस दिन की यह घटना बताई जा रही है।

स्वामी ओम ने अग्रिम जमानत याचिका दायर की है और कहा कि उन्हें मामले में झूठे फंसाया जा रहा है, क्योंकि वह भारतीय संस्कृति की वकालत कर रहे हैं और असामाजिक तत्व उनकी सामाजिक गतिविधि को रोकना चाहते हैं।

उनके वकील ए.पी. सिह ने अदालत को भरोसा दिया कि यदि अग्रिम जमानत मिल जाती है तो ओम अपनी स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल नहीं करेंगे।

एक महिला ने स्वामी ओम और संतोष आनंद के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज कराई है। महिला का आरोप है कि उसे गलत तरीके से रोका गया और उसके साथ आपत्तिजनक व्यवहार किया गया।

महिला ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि अभियुक्तों ने 7 फरवरी को उसके कपड़े फाड़ दिए थे।

यह शिकायत इंद्रप्रस्थ पुलिस थाने में दर्ज कराई गई थी।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>