सोनिया-राहुल और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने दी गिरफ्तारी

May 06, 2016

अगस्तावेस्टलैंड के मुद्दे पर हमलों का सामना कर रहीं सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर पलटवार करते हुए शुक्रवार को कहा कि कांगेस को ‘डराने की कोशिश मत’ करो.

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जिंदगी ने उन्हें ‘संघर्ष करना’ सिखाया है. संसद की ओर मार्च करने से रोके जाने पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और पार्टी के अन्य शीर्ष नेताओं ने अपनी गिरफ्तारी दी.

संसद की ओर मार्च की कोशिश करने से पहले सोनिया ने पार्टी द्वारा जंतर मंतर पर आयोजित ‘लोकतंत्र बचाओ’ रैली में कहा, ‘यह सोचने की गलती न करें कि कांग्रेस पार्टी कमजोर है. हम लोकतांत्रिक संस्थानों को कमजोर या नष्ट नहीं होने देंगे.’

सोनिया, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अन्य वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने संसद मार्ग पुलिस थाने में गिरफ्तारी दी। इसके बाद भारी पुलिस बल ने प्रदर्शनकारियों को रोका. गिरफ्तारी देने वाले नेताओं को कुछ समय बाद छोड़ दिया गया था.

कांग्रेस प्रमुख ने वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदा मामले में लगे रित के आरोपों की पृष्ठभूमि में कहा, ‘हमें डराने या बदनाम करने की कोशिश न करें. जिंदगी ने मुझे संघर्ष करना सिखाया है.’

रैली को संबोधित करते हुए सोनिया ने कहा, ‘आज जो लोग उनसे सहमत नहीं हैं, उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है.’ इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी भी दी, ‘इनके दिन अब पूरे हो गए हैं’, यदि ये लोग इसमें लगे रहते हैं तो जनता उन्हें सबक सिखाएगी.

आरएसएस पर निशाना साधते हुए सोनिया ने कहा, ‘हमें इतना कड़ा संदेश भेजना है ताकि रायसीना हिल और नागपुर में बैठे लोग सुन सकें.’

मोदी सरकार पर ‘लोकतंत्र की हत्या करने और लोकतांत्रिक संस्थानों को नष्ट करने’ का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं यह स्पष्ट तौर पर कहना चाहती हूं कि आप लोकतंत्र को नष्ट करने के लिए कोई भी प्रयास कर लीजिए, हम ऐसा होने नहीं देंगे. हम संघर्ष करने के आदि हो चुके हैं और हमने पूर्व में कई चुनौतियों का सामना किया है.’
सोनिया ने कहा, ‘कांग्रेस के लिए संघर्ष कोई नई बात नहीं है. हमने देश के लिए खून बहाया है. हम वे लोग हैं, जिन्होंने मूलभूत सिद्धांतों की रक्षा के लिए अपना खून दिया है और जिंदगियां कुर्बान की हैं. हम इससे पीछे नहीं हटेंगे.’

अरूणाचल प्रदेश और उत्तराखंड के राजनीतिक संकट का हवाला देते हुए उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि यह सरकार ‘धनबल का इस्तेमाल करके’ लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित कांग्रेस सरकारों को हटा रही है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘उन्होंने लोकतंत्र की हत्या की है. आज उत्तराखंड के जंगल जल रहे हैं लेकिन इस आग को बुझाने के लिए कोई सरकार नहीं है.’

किसानों की आत्महत्या के मुद्दे को उठाते हुए सोनिया ने कहा, ‘हमने किसानों, कर्मचारियों, महिलाओं और युवाओं की बेहतरी के लिए कदम उठाए थे लेकिन इस सरकार ने उसे नष्ट कर दिया. हर कोई आज प्रताड़ित और दुखी महसूस कर रहा है. किसान आत्महत्या कर रहे हैं. उन्होंने झूठे सपने दिखाकर सत्ता हासिल की है.’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस संसद के अंदर और बाहर अन्याय के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगी.

कांग्रेस प्रमुख ने अपनी पार्टी के सदस्यों से अपील की कि वे ‘जनता तक पहुंच बनाएं और मोदी सरकार को लोकतांत्रिक तरीके से बेनकाब करें.’

उन्होंने कहा, ‘हम लोकतांत्रिक व्यवस्था को नष्ट नहीं होने देंगे.’

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>